Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में पदस्थ शाखा अधिकारी के घर लाखों की चोरी

  रायपुर। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में पदस्थ शाखा अधिकारी के लाखों की चोरी हुई है। परिवार के सदस्य शाम को अलग-अलग काम से घर से गए थ...

 

रायपुर। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में पदस्थ शाखा अधिकारी के लाखों की चोरी हुई है। परिवार के सदस्य शाम को अलग-अलग काम से घर से गए थे। इस बीच अज्ञात चोर ने घर में घुसकर सोने चांदी के जेवर व नकदी समेत चार लाख 44 हजार रुपये पर हाथ साफ कर दिया। तेलीबांधा पुलिस ने बताया कि प्रोफेसर कालोनी कृषक नगर जोरा निवासी अजय शर्मा इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर में शाखा अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं। पांच अप्रैल की शाम करीबन चार बजे वह रायपुर सिटी में काम से आए थे। घर में पत्नी रश्मी शर्मा और बेटा आधार शर्मा मौजूद थे। रात करीबन नौ बजे प्रोफेसर कालोनी वापस लौटे तो देखा घर दरवाजा खुला हुआ था। अजय ने बाहर से ही पत्नी को आवाज लगाई कोई जवाब नहीं मिलने पर फोन किया, तब बताया कि कालोनी में टहलने निकली है। इसके बाद वह घर अंदर गया तो देखा कि आलमारी खुली हुई थी व लाकर टूटा हुआ था। आलमारी में रखे सामान बिखरे हुए थे। आलमारी के लाकर में रखे नकदी रकम तीन लाख 35 हजार रुपये और सोने की अंगूठी, सोने का झुमका, सोने की बाली, चांदी का बर्तन, चांदी का सिक्का करीबन 10, 9000 रुपये कुल चार लाख 44 हजार रुपये को किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा चोरी कर ले गया है। वहीं एक उठाईगिरी का भी मामला सामने आया है। महिला की शिकायत पर टिकरापारा थाना पुलिस ने शून्य पर अपराध कायम कर दुर्ग भेज दिया है। जानकारी के अनुसार महिला अपने दो बच्चों के साथ अमरावती से रायपुर अपने मायके आ रही थीं। भिलाई पावर हाउस के पास जब पर्स से मोबाइल निकाला, तब उठाईगिरी का पता चला। पर्स में रखी नकदी रकम और जेवर कुल लगभग छह लाख की उठाईगिरी हुई है। महिला ने रायपुर पहुंचने के बाद टिकरापारा थाने में शिकायत दर्ज करवाई। बेटा गया था फिल्म देखने प्रार्थी ने पुलिस को बताया कि रात में पत्नी खाना बनाने के बाद कालोनी में टहलने चली गई थी। वहीं बेटा आधार शर्मा फिल्म देखने गया था। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। आसपास लगे सीसीटीवी और लोकल चोर गैंग की पतासाजी में जुटी हुई है।

No comments