Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

पीएम मोदी के बाद अखिलेश यादव...पप्पू की उसी दुकान पर पहुंचे जिस पर लटक रही बंदी की तलवार

 वाराणसी ।  समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव शुक्रवार को एक दिवसीय दौरे पर पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। यहां अखिलेश उ...


 वाराणसी ।  समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव शुक्रवार को एक दिवसीय दौरे पर पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। यहां अखिलेश उसी पप्पू की दुकान पर चाय पीने पहुंच गए जहां पीएम मोदी ने भी चाय पी थी। पप्पू को वैसे पुराना समाजवादी कहा जाता है। अखिलेश ने चाय पीने के साथ ही पप्पू का हालचाल लिया। पिछले दिनों दुकान को सील करने की आई खबरों के बारे में उससे जानकारी ली। वाराणसी के अस्सी मुहल्ले में स्थित इस दुकान पर पीएम मोदी और अखिलेश से पहले भी कई पूर्व प्रधानमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री समेत तमाम राजनेता आते रहे हैं।पप्पू की यह चाय की दुकान बीएचयू छात्रसंघ चुनावों से लेकर यूपी विधानसभा चुनाव और देश के आम चुनावों के दौरान चर्चा का बड़ा केंद्र रहती है। हर दल के लोग यहां देश दुनिया की खबरों पर चर्चा करने के लिए जुटते हैं। जिस अस्सी घाट से पीएम मोदी ने देश भर में स्वच्छता अभियान का शुभारंभ किया था उसी अस्सी मुहल्ले में यह दुकान स्थित है। देश दुनिया में फेमस होने के बाद भी यह दुकान दशकों पुराना अपना अंदाज समेटे हुए है। न तो दुकान का हुलिया कभी बदला और न ही चाय बनाने, पिलाने का तरीका ही बदला गया है। पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान वाराणसी पहुंचे पीएम मोदी ने इस दुकान पर पहुंचकर चाय पी थी। तब पीएम मोदी के प्रोटोकॉल में यह शामिल नहीं था। अचानक ही पीएम मोदी यहां पहुंचे और आम लोगों के साथ बैठकर चाय पी थी। शुक्रवार को बिना प्रोटोकॉल ही अखिलेश यादव भी यहां पहुंचे और चाय पी। दुकानदार पप्पू से बातचीत भी की। उसका हालचाल जाना।  पप्पू की चाय की दुकान पर अब ताला लटकने का खतरा मंडरा रहा है। पप्पू की दुकान जिस मारवाड़ी सेवा संघ भवन में स्थित है उस पर वाराणसी नगर निगम का गृहकर और ब्याज बकाया बताया जा रहा है। हालांकि नगर निगम अधिनियम में दानोत्तर संपत्ति को कर के दायरे से बाहर रखा गया है। निगम अफसरों ने इसके बाद भी अधिनियम का उल्लंघन करते हुए टैक्स लगाया है। टैक्स नहीं देने पर पूरे भवन को सील करने की तैयारी कर रखी है। इससे पप्पू की चाय की दुकान पर भी सील होने का खतरा मंडरा रहा है। फिलहाल पप्पू की दुकान 294 रुपये महीने की किराएदारी पर चल रही है। यह किराया दानोत्तर ट्रस्ट के फंड में जमा होता है। नगर निगम ने पप्पू चाय की दुकान समेत सभी भवनों को पिछले दिनों कुर्क किया था। नगर निगम भेलूपुर जोन की टीम ने  दुकानों को सील करने की चेतावनी भी दी है।

No comments