Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

छग की 6 प्रतिभागियों ने हासिल किया इंडिया इंटरनेशनल 2024 का खिताब

  00 खिताब जीतने करनी पड़ती हैं कड़ी मेहनत रायपुर। पिछले दिनों गोवा के नीलम द ग्रैंड होटल में आयोजित इंडिया इंटरनेशनल 2024 प्रतियोगिता में...

 

00 खिताब जीतने करनी पड़ती हैं कड़ी मेहनत
रायपुर। पिछले दिनों गोवा के नीलम द ग्रैंड होटल में आयोजित इंडिया इंटरनेशनल 2024 प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ से 20 प्रतिभागियों ने भाग लिया था जिसमें 6 प्रतिभागियों ने अलग-अलग कैटेगिरी में खिताब हासिल करने में कामयाब रही। खिताब हासिल करने के बाद राजधानी रायपुर लौटी प्रतिभागियों ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि खिताब जीतने के लिए कड़ी मेनहत और घर वालों का सपोर्ट बहुत जरुरी होता है। इस क्षेत्र में काम कर रही लड़कियों व महिलाओं को लोग भले ही बूरी नजर से देखते हैं लेकिन उनकी प्रतिभाओं को वे नहीं देखते हैं, वे यहां तक किन-किन परिस्थितियों से पार कर यहां तक पहुंची है।
पत्रकारों से चर्चा करते हुए एसएस फाउंडेशन की संस्थापिका शिखा साहू ने बताया कि इंडिया इंटरनेशनल प्रतियोगिता के बाद उनका अगला टारगेट इंटरनेशनल करना हैं जिसकी तैयारी में जुट गई है। इसके अलावा इंडिया इंटरनेशनल प्रतियोगिता में जीतने भी प्रतिभागियों ने खिताब जीता है उन्हें उनकी प्रतिभा के अनुसार उन मुकाम तक पहुंचना है ताकि वे आगे अपना कैरियर इस क्षेत्र में बना सकें। असम की प्रिया दास ने मिस इंडिया आइकन का खिताब जीती हैं और उन्होंने अपना अनुभव साझा करते हुए बताया कि वे पहली बार घर से कुछ करने के लिए बाहर निकली थी लेकिन उनकी प्रतिभाओं को वहां वह मौका वहां नहीं मिल पाया। एसएस फाउंडेशन की संस्थापिका शिखा साहू से एक दिन मुलाकात हुई और उन्होंने उनकी प्रतिभा को पहचाना और आज यह खिताब हासिल करने में कामयाब हो पाई। छत्तीसगढ़ और असम में ज्यादा फर्क नहीं है लेकिन वहां की लड़कियों से ज्यादा छत्तीसगढ़ की लड़कियों में ज्यादा प्रतिभा है और अब यहां से वे जाना नहीं चाहती है और यही रहकर अपना कैरियर बनाना चाहती है।
मिसेस इंडिया इंटरनेशनल जागृति गोठी ने बताया कि वह भिलाई की रहने वाली है और दो बच्चों की माँ है, लेकिन उनकी इस प्रतिभा को निखारने में घर वालों का सपोर्ट बहुत जरुरी होता है वह सपोर्ट उन्हें मिला भी। लेकिन खिताब जीतने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है, अब उनका अगला टारगेट फैशन डिजाइनर बनना है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मॉडलिंग करने वाली महिलाओं और युवतियों को लोग गलत नजरिए से इसलिए देखते है क्योंकि वह बहुत छोटे कपड़े पहनती है और अपना अंग प्रदर्शन करती है। लेकिन वह यह सब क्यों कर रही है इस बारे में नहीं सोचते हैं, उनके इन्हीं प्रदर्शन से वह अपना घर व परिवार चला रही है व कैरियर बना रही है।
ये जीती इंडिया इंटरनेशनल 2024 का खिताब
मिसेस कैटेगरी में जागृति गोठी (मिसेस इंडिया इंटरनेशनल), अंकिता शर्मा (मिसेस इंडिया यूनिवर्स), अर्पिता सिंह (मिसेस इंडिया अर्थ), रश्मि शिन्दे (मिसेस इंडिया आइकन), ममता मोटवानी (क्लासिक मिसेस इंडिया) और मिस कैटेगरी में कंचन मेहरा (मिस इंडिया इंटरनैशनल), अंशु कुमारी (मिस इंडिया अर्थ), प्रिया दास (मिस इंडिया आइकन), देव श्रीवास (मिस्टर इंडिया इंटरनैशनल), वासु गुप्ता (मिस्टर इंडिया आइकन) रहे। निर्णायक के रूप में प्रिया श्रीवास्तव, झिलमिल बैनर्जी, आकांक्षा सिंह राजपूत, दिपांशी घोष, माही, प्रियांशी रही।

No comments