Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

भाजपा को अपने कार्यकर्ताओं पर भरोसा नहीं इसलिये दलबदल करवा रही

   हार के डर से भाजपा उधार के नेता खोज रही है कितना हास्यास्पद भाजपा ने एक महामंत्री को दल बदल कर प्रभार दे रखा है रायपुर। भाजपा जान गयी है...

  

हार के डर से भाजपा उधार के नेता खोज रही है
कितना हास्यास्पद भाजपा ने एक महामंत्री को दल बदल कर प्रभार दे रखा है

रायपुर। भाजपा जान गयी है कि उसके अपने कार्यकर्ताओ के दम पर वह लोकसभा चुनाव नहीं जीत सकती। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा को अपने कार्यकर्ताओ की क्षमता पर भरोसा नहीं रह गया। इसलिये वह लोकसभा चुनाव में दल बदल करवा कर आयातित कार्यकर्ता खोज रही है। यही नहीं भाजपा ने दल बदल को अपने राजनैतिक कार्यक्रम का प्रमुख हिस्सा बना लिया है। कितना हास्यास्पद भाजपा ने एक महामंत्री को दल बदल कर प्रभार दे रखा है उसने एक महामंत्री को भाजपा प्रवेश की जवाबदारी दी है। जिनका काम है वार्ड स्तर के जिला स्तर के कार्यकर्ताओं को खोज कर उन पर दबाव डालकर प्रलोभन देकर भाजपा प्रवेश कराना है। भाजपा कुछ निर्वाचित जनप्रतिनिधियों पर सरकार का दबाव बनाकर भी भाजपा प्रवेश करवा रही है। जिस प्रकार से भाजपा दल बदल करवा रही उसके मूल कार्यकर्ताओ में हताशा और निराशा का भाव है। उनके मूल कार्यकर्ता भी दल बदल के अपने पार्टी की नीति से यह मानने लगे है कि उनकी उपेक्षा हो रही है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा भ्रम फैलने और अपने पक्षा का झूठा माहौल दिखाने के लिये कुछ कार्यकर्ताओ को प्रलोभन देकर दल बदल करवा रही है, लेकिन उसके इस झूठ के गुब्बारे की हवा मतदान के बाद निकल जायेगी। जनता मोदी से उनके 10 सालों के कामों का हिसाब मांग रही, लोग महंगाई, बेरोजगारी, किसानो की आय पेट्रोल-डीजल के दाम राशन सामाग्री के बढ़ते दामों के मुद्दो पर मतदान करेगी। 10 सालों तक मोदी जी ने केवल जुमलेबाजी की सरकार चलाया है। अब भाजपा झूठ के सहारे चुनाव लड़ना चाह रही। उसके पास 10 सालों के मोदी सरकार की उपलब्धि के नाम पर कुछ भी नहीं है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा के मूल कार्यकर्ता भी मोदी के दस साल की विफलता से परेशान है। उनमें लोकसभा चुनाव में जनता का सामना करने का साहस नहीं बचा है। इसीलिये वह दल बदल करवा कर कार्यकर्ता खोज रही है।

No comments