Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

डबल इंजन की सरकार आते ही छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सुविधा बदहाल’

  साय सरकार के पिछले तीन चार महीनों में 300 करोड़ के वैक्सीन और टेस्ट किट बर्बाद’ आयुष्मान कार्ड से फ्री इलाज अघोषित रूप से बंद, ओपीडी से लौट...

 

साय सरकार के पिछले तीन चार महीनों में 300 करोड़ के वैक्सीन और टेस्ट किट बर्बाद’
आयुष्मान कार्ड से फ्री इलाज अघोषित रूप से बंद, ओपीडी से लौटाए जा रहे हैं मरीज़’

रायपुर । छत्तीसगढ़ में चरमराती स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ प्रवक्ता सुरेंद्र वर्मा ने भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार के द्वारा आम जनता के लिए जो स्वस्थ्य सुविधा छत्तीसगढ़ में विकसित की गई थी वह अब भारतीय जनता पार्टी की डबल इंजन की सरकार में दम तोड़ रही है। हमर अस्पताल, मोहल्ला क्लीनिक, हाट बाजार क्लिनिक और स्लम चिकित्सा योजना के साथ ही आयुष्मान कार्ड से भी इलाज पूरी तरह से बाधित हो गई है। साय सरकार में मरीजों को जांच, इलाज और दवा के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है। आयुष्मान योजना और डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना के अंतर्गत मरीजों का फ्री इलाज करने वाले निजी अस्पतालों का भुगतान रोके जाने से अस्पतालों के द्वारा ओपीडी से ही मरीजों को लौटाया जा रहा है। जो निजी अस्पताल केवल आयुष्मान कार्ड से इलाज पर निर्भर थे, ऐसे अस्पताल बंद होने के कगार पर हैं। साय सरकार के भ्रष्टाचार, उपेक्षा और अकर्मण्यता का परिणाम मरीजों को भुगतना पड़ रहा है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ प्रवक्ता सुरेंद्र वर्मा ने कहा है कि भाजपा सरकार का पूरा फोकस केवल भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी में है। वैक्सीन तो खरीद लिए लेकिन प्रशासनिक अकर्मण्यता के चलते 300 करोड़ से अधिक के पोलियो वैक्सीन और टेस्ट किट पिछले 4 महीने में बिना उपयोग के ही एक्सपायर हो गए। सरकारी अस्पतालों में टीबी तक की बेसिक दवा का शॉर्टेज बताया जा रहा है। टीबी पेशेंट को मिलने वाले आहार सहायता की राशि भी बंद कर दी गई है। हमर अस्पताल से मिलने वाली जीवन रक्षक दवाओं से भी मरीजों को वंचित कर दिया गया है। पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार ने छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य का इंफ्रास्ट्रक्चर ढाई गुना बेहतर किया था। सभी मेडिकल कॉलेज अस्पताल और जिला अस्पतालों को मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल बनाया गया था। ब्लॉक स्तर के अस्पतालों में भर्ती की सुविधा विकसित की, निःशुल्क जांच, इलाज और दवा सभी के लिए उपलब्ध करवाई गई थी। 25 लाख तक स्वास्थ्य सहायता योजना पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार के दौरान संचालित थी लेकिन विष्णुदेव साय सरकार बनते ही बड़े निजी अस्पतालों को मुनाफा पहुंचाने की नियत से षडयंत्र पूर्वक पूरी व्यवस्था बाधित कर दिया गया है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ प्रवक्ता सुरेंद्र वर्मा ने कहा है कि विगत दिनों सीएजी के रिपोर्ट में भाजपा सरकारों का आयुष्मान घोटाला उजागर हुआ। एक ही मोबाइल नंबर से लाखों हितग्राहियों का पंजीयन और वह भी ऐसा मोबाइल नंबर, 9999999999 जो आज तक किसी को जारी नहीं हुआ, पूर्व में मृत हो चुके लोगों के इलाज के नाम पर करोड़ों का फर्जी भुगतान भी सर्वविदित है, वर्तमान सरकार के संरक्षण के बिना यह कैसे संभव है? छत्तीसगढ़ की जनता भाजपा के कुशासन, वादाखिलाफी और जन विरोधी नीतियों से तंग आ चुकी है, अब इस लोकसभा चुनाव में भाजपा के जुमलेबाजी के खिलाफ जनता मतदान करेगी।

No comments