Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

साय सरकार के तीन माह में ही स्वास्थ्य व्यवस्था बदहाल, न दवा, न जांच, न इलाज, मरीज़ दर दर भटकने मजबूर हैं’- दीपक बैज

  रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार आते ही छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सेवा पूरी तरह से चरमरा गई ह...

 



रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार आते ही छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सेवा पूरी तरह से चरमरा गई है। सरकारी अस्पतालों में मरीज को ना समुचित मात्रा में दवा मिल पा रही है, न जांच हो पा रहा है और ना ही समुचित इलाज का प्रबंध है। खबर है कि डबल इंजन की सरकार बनने के बाद से छत्तीसगढ़ को केंद्र से पिछले सवा माह से टीवी की दवाई की सप्लाई भी बंद कर दी गई है जिससे टीवी के मरीज बे मौत मरने मजबूर हैं। छत्तीसगढ़ में विष्णुदेव साय सरकार आने के बाद से विगत 3 महीना में प्रशासन की उपेक्षा और घोर लापरवाही के चलते 20 करोड़ से अधिक की पोलियो वैक्सीन एक्सपायर हो गई है। हितग्राहियों को वैक्सीन लगवाने, व्यवस्था करने या सुपरविजन तक की जहमत उठाना भाजपा की सरकार ज़रूरी नहीं समझती है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि छत्तीसगढ़ में विष्णु देव साय सरकार की उपेक्षा के चलते ही लगभग 300 करोड़ से अधिक का टेस्ट किट विगत तीन माह के दौरान एक्सपायर होकर अनुपयोगी हो चुके हैं। भाजपा की साय सरकार का पूरा फोकस केवल नए-नए तरह के उपकरण, दवा और केमिकल खरीदी में है ताकि जमकर कमीशनखोरी की जा सके लेकिन अस्पतालों की व्यवस्था सुधारने, जांच दवा और इलाज की समुचित व्यवस्था करने में विष्णु देव साय सरकार की कोई रुचि नहीं है। भाजपा के 15 साल में 4 सरकारी मेडिकल कॉलेज बने थे। कांग्रेस के विगत 5 वर्षो के कार्यकाल में 8 सरकारी नये मेडिकल कॉलेज बने। सभी जिला अस्पतालों को मल्टीस्पेशलिटी हास्पिटल के रूप में उन्नयन किया गया था। सभी ब्लाक अस्पतालों में भर्ती की सुविधा शुरू की गयी थी। 1900 से अधिक वेलनेस सेंटर संचालित थे। कांग्रेस के कार्यकाल में छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य का इंफ्रास्ट्रक्चर तीन गुना अधिक बेहतर हुआ था। साय सरकार की अकर्मण्यता के चलते ही पूर्ववर्ती सरकार के दौरान संचालित हमर अस्पताल, हाट बाजार क्लिनिक, मोहल्ला क्लीनिक, शहरी स्लम चिकित्सा केंद्र में भी बदहाली का आलम है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि आयुष्मान योजना का ढोल पीटने वाले भारतीय जनता पार्टी के नेता यह बताएं की अस्पतालों का लंबित भुगतान क्यों रोका गया है? छत्तीसगढ़ के किसी भी अस्पताल में आयुष्मान योजना के तहत समुचित इलाज नहीं हो पा रहा है किसी न किसी बहाने मरीजों को कार्ड से इलाज के बजाय नगद जमा करने बाध्य किया जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के संरक्षण में आयुष्मान पर इलाज के नाम पर धोखाधड़ी और लूट मची है। विगत दिनों केन्द्र सरकार के सीएजी की रिपोर्ट में भी खुलासा हुआ है कि आयुष्मान कार्ड से इलाज के नाम पर मृत व्यक्तियों के इलाज पर खर्च दिखाकर भारी भरकम राशि निकाली गई फर्जी कार्ड बनाए गए लेकिन वास्तविक हितग्राहियों का इलाज आयुष्मान कार्ड से नहीं हो पा रहा है। पूर्ववर्ती सरकार के दौरान छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के नाम पर 25 लाख तक चिकित्सा सहायता दी जाती थी वह भी अघोषित तौर पर बंद कर दी गई है छत्तीसगढ़ में विष्णुदेव साय की सरकार आने के बाद से छत्तीसगढ़ के लोग इलाज की सुविधा से वंचित है साय सरकार कमीशन खोरी में मस्त है।  

No comments