Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

16 हजार रुद्राक्ष से बनाया शिवलिंग, द्वादश ज्योतिर्लिंग के भी होंगे दर्शन

  भिलाई।  महाशिवरात्रि के पहले ही टि्वनसिटी में भोले बाबा की भक्ति का दौर शुरू हो गया है। शिवालयों में विभिन्न आयोजनों की तैयारी की जा रही...

 

भिलाई।  महाशिवरात्रि के पहले ही टि्वनसिटी में भोले बाबा की भक्ति का दौर शुरू हो गया है। शिवालयों में विभिन्न आयोजनों की तैयारी की जा रही है। वहीं कुछ स्थानों पर धार्मिक आयोजन शुरू हो चुके हैं। सेक्टर-7 में प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा द्वादश ज्योतिर्लिंग की भव्य झांकी का निर्माण किया गया है। वहीं देवबलोदा में ग्रामीणों द्वारा श्री शिव महापुराण कथा एवं तीन दिवसीय रूद्र महायज्ञ कराया जा रहा है। यहां 16 हजार रुद्राक्ष से शिवलिंग का निर्माण कर पूजा की जा रही है। इधर देवबलोदा के एतिहासिक शिवमंदिर में श्रद्धालुओं की उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए निगम द्वारा तैयारी शुरू कर दी गई है। यहां दो दिवसीय मेला 8 मार्च से होगा। पाटन के कौही, टोलाघाट एवं सोनपुर में भी मेला लगेगा। दुर्ग के शिवनाथ तट पर भव्य मेला आयोजन को लेकर तैयारी है। महाशिवरात्रि का पर्व आठ मार्च को है। भिलाई-दुर्ग में इस पर्व को भव्य रूप में मनाने सहित विभिन्न आयोजन की तैयारी अंतिम चरणों में हैं। वहीं कुछ स्थानों पर आयोजन शुरू भी हो गया है। इससे अभी से महाशिवरात्रि का माहौल दिखने लगा है। देवबलोदा में पांच दिवसीय श्री शिव महापुराण कथा एवं तीन दिवसीय रूद्र महायज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। मंगलवार को यहां पर रुद्र महायज्ञ प्रारंभ हुआ। यहां 16 हजार रुद्राक्ष से शिवलिंग का निर्माण किया गया है। इसके लिए विधि पूजन का कार्यक्रम सुबह 9 बजे से हुआ। वहीं श्री शिव महापुराण कथा में गंगा उत्पत्ति, गंगाधर भगवान की कथा एवं रात में गंगा आरती का आयोजन भी किया गया। छह मार्च को श्री शिव महापुराण कथा के दौरान शिवरात्रि व्रत पशुपति व्रत की महिमा का प्रसंग होगा। देवबलोदा में इस कार्यक्रम का आयोजन महादेव सेवा संगठन व नवोदय युवक संगठन के द्वारा किया गया है। महंत वेद प्रकाश आचार्य महाराज एवं दिलेश कृष्ण शास्त्री व सचिन शर्मा के सानिध्य में हो रहा है। नगर निगम भिलाई चरोदा द्वारा दो दिवसीय देवबलोदा महोत्सव 8 व 9 मार्च को मनाया जाएगा। वहीं प्राचीन शिवमंदिर व बाहर में बेरिकेडिंग का काम शुरू हो गया है। दो दिवीसीय महोत्सव का उद्घाटन सांसद विजय बघेल करेंगे। समापन समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को मुख्य अतिथि होंगे। स्थानीय विधायक डोमन लाल कोर्सेवाड़ा दोनों दिन के कार्यक्रम में बतौर अध्यक्ष शामिल होंगे। खुर्सीपार में बाबा की बारात से पहले संगीत संध्या का कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस संगीत संध्या में भजन सम्राट दिलीप षड़ंगी अपनी टीम के साथ प्रस्तुति दी। आमा पान की पतरी से लेकर प्रसिद्ध गानों को उन्होंने गाया। जिसमें श्रद्धालु झूमते हुए नजर आए। खुर्सीपार में संगीत संध्या पर जोरदार माहौल बन गया। कार्यक्रम का संचालन सुमन कन्नौज ने किया ने किया। आयोजक दया सिंह ने बताया कि इस कार्यक्रम में शहर के महापौर नीरज पाल, बीजेपी पूर्व जिला अध्यक्ष बृजेश बिचपुरिया, लक्ष्मीपति राजू, रिसाली निगम सभापति केशव बंछाेर, पार्षद सत्यादेवी जायसवाल ,लक्ष्मी साहू, लक्ष्मी दिवाकर,वीना चंद्राकर सहित अन्य थे। दया सिंह ने बताया कि 8 मार्च को मध्यभारत की सबसे बड़ी भोले बाबा की बारात निकलेगी। आकर्षक झांकी होगी। धुमाल-डीजे में बजेंगे भजन। बोल बम सेवा एवं कल्याण समिति द्वारा यह आयोजन कराया जा रहा है। आइपीएल की तरह आतिशबाजी भी लोगों को देखने मिलेगी। कुल 151 झांकियां बाबा की बारात में होगी।

No comments