Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

राजधानी रायपुर हनुमंत कथा से होगी फिर से राममय

रायपुर। छत्तीसगढ़ की संस्कारधानी रायपुर की पावन धरा में फिर से एक बार विश्व संत शिरोमणि विख्यात पं धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (बागेश्वर धाम पीठ...


रायपुर। छत्तीसगढ़ की संस्कारधानी रायपुर की पावन धरा में फिर से एक बार विश्व संत शिरोमणि विख्यात पं धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर) के मुखारविंद से श्रीराम भक्त हनुमान की हनुमंत कथा एवं दिव्य दरबार का आयोजन किया जा रहा है, यह भव्य आयोजन विवेकानंद विद्यापीठ के सामने, कोटा रोड, गुढ़ियारी, रायपुर (छ. ग.) में सम्पन्न होगा। यह आयोजन रायपुर छत्तीसगढ़ प्रदेश ही नही अपितु पूरे देश व विदेशो में दिनाँक 23 जनवरी 2024 से 27 जनवरी 2024 तक संस्कर टीवी चैनल के माध्यम से लाइव प्रसारण किया व देखा जावेगा। हनुमंत कथा की भव्यता को देखते हुए हिन्दू सनातन धर्म प्रेमियों की सुविधा के लिए हर प्रकार की यथा संभव समुचित व्यवस्था आयोजन समिति के द्वारा की जा रही है। व्यवस्था के संबंध को लेकर दिनाँक- 14 जनवरी 2024, दिन- रविवार को प्रातः 11:00 बजे सभी धर्म प्रेमियों की बैठक रखी गयी थी। जिसमे विशेष रूप से पूर्व नेता प्रतिपक्ष श्री नारायण चंदेल  जी, कोषाध्यक्ष भाजपा छत्तीसगढ़ श्री नंदन जैन जी, विधायक रायपुर उत्तर विधानसभा श्री पुरंदर मिश्रा जी, प्रमुख अखिल भारतीय घर वापसी श्री प्रबल प्रताप सिंह जूदेव जी, पार्षद मनोज वर्मा जी, पार्षद सुंदर जोगी जी, पार्षद कामनी पुरुषोत्तम देवांगन जी, पार्षद नारद कौशल जी, ग्रीन आर्मी एवं सभी गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। जिसमें व्यवस्था प्रभारियों की जिम्मेदारी सुनिश्चित की गयी साथ ही कार्यक्रम की रूपरेखा की चर्चा की गयी। जिसमे कथा में आने वाले सभी भक्तो के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं,
छत्तीसगढ़ वासियों को श्रीराम भक्त हनुमान जी की जीवंत हनुमंत कथा सुनने का सुअवसर पुनः एक बार मिलेगा। इस कलयुग में हनुमंत लाल जी अजर - अमर है। समय समय पर हिन्दू सनातन धर्म के द्वारा ऐसे आयोजनों से युवा पीढ़ी को अपनी संस्कृति और संस्कार को आगे बढ़ाने का बल मिलता है, जिससे कि युवा पीढ़ी समाज की नई दिशा देने में अपनी महती भूमिका निभाते है। कथा आयोजन समिति के प्रमुख चंदन - बसंत अग्रवाल एवं दिनेश मिश्रा जी ने बताया कि इस पांच दिवसीय कथा आयोजन के दौरान छत्तीसगढ़ के सुदूर अंचलो में जो कुछ हिन्दू भाई - बहने अज्ञानतावश अपनी मूल हिन्दू सनातन धर्म को छोड़ कर दूसरे धर्म मे चले गए थे उनका घर वापसी पं धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री जी एवं हिन्दू ह्रदय सम्राट युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत श्री प्रबल प्रताप सिंह जूदेव जी के सानिध्य में कराया जाएगा। मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम जी के 500 वर्षों की प्रतीक्षा के पश्चात करोड़ो हिन्दुओ के आस्था का केंद्र अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा के सुअवसर पर ऐतिहासिक महोत्सव दिनाँक- 22 जनवरी 2024, दिन- सोमवार को 11 लाख दिप प्रज्वलित किया जाएगा साथ ही लेजर शो व भव्य आतिशबाजी की तैयारी की जा रही है। साथ ही साथ दिनाँक- 26 जनवरी 2024 , दिन- शुक्रवार को गणतंत्र दिवस के सुअवसर पर छत्तीसगढ़ के पूर्व सैनिक एवं माँ भारती की रक्षा करते हुए अपनी जान का बलिदान करने वाले शहीद वीर सपूतों के परिवारों का सम्मान भी किया जावेगा। कथा के अंतिम दिवस दिनाँक- 27 जनवरी 2024, दिन- शनिवार को निर्धन कन्याओं के विवाह महोत्सव का आयोजन भी रखा गया है। इस आयोजन में पं धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री जी की गरिमामय उपस्थिति में निर्धन कन्याओं का विवाह समिति के विख्यात पंडितों के द्वारा हिन्दू रीति-रिवाज वैदिक परंपरा अनुसार संपन्न कराया जाएगा।

No comments