Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

कोरबा में कांग्रेस को टक्कर देने भाजपा को नए चेहरे की तलाश

   रायपुर।  कोरबा विधानसभा सीट पूरी तरह शहरी सीट है। कोरबा विधानसभा क्षेत्र में कोरबा नगर निगम के 67 में से 59 वार्ड समाहित हैं। यहां के व...

 

 रायपुर।  कोरबा विधानसभा सीट पूरी तरह शहरी सीट है। कोरबा विधानसभा क्षेत्र में कोरबा नगर निगम के 67 में से 59 वार्ड समाहित हैं। यहां के विधायक जयसिंह अग्रवाल छत्तीसगढ़ सरकार में राजस्व मंत्री हैं। शहरी क्षेत्र होने की वजह से यहां नगरीय विकास ही सबसे बड़ा मुद्दा है। 2008 के परिसीमन में कटघोरा विधानसभा सीट का विभाजन कर कोरबा विधानसभा सीट बनाई गई थी। 2008 में पहले चुनाव में कांग्रेस ने जयसिंह अग्रवाल को प्रत्याशी बनाया और उन्होंने भाजपा के बनवारी लाल को परास्त कर दिया। 2013 व 2018 के चुनाव में भाजपा ने अलग-अलग प्रत्याशियों को आजमाया परंतु कोई भी जयसिंह अग्रवाल को नहीं हरा पाया। अब तीन बार के विधायक जयसिंह अग्रवाल को हराने के लिए भाजपा नए चेहरे की तलाश में है। भाजपा के पास कोई बड़ा चेहरा नहीं है इसलिए रणनीति बदलते हुए युवा प्रत्याशी को मैदान में उतारने की रणनीति बनाई गई है। यही कारण है कि इस बार भाजपा में कई नए चेहरे दावेदारी कर रहे हैं। कोयला खदानों व ताप विद्युत संयंत्रों के लिए विश्व भर में प्रसिद्ध कोरबा राज्य की प्रमुख औद्योगिक नगरी है। यहां देश के हर जाति व प्रांत के लोग निवासरत हैं। यूपी, बिहार, पंजाब, झारखंड, गुजरात, महाराष्ट्र, दक्षिण भारत के राज्यों के नागरिक यहां रहते हैं। विभिन्न संस्कृतियों को समागम यहां देखने को मिलता है। छत्तीसगढ़िया मूल की जनंसख्या भी पर्याप्त है। इस शहर को मिनी भारत की संज्ञा दी जाती है। यहां किसी जातिगत समीकरण पर चुनाव की रणनीति नहीं बनती, हर वर्ग को साधने की चुनौती रहती है और जयसिंह इसमें सफल हैं।

No comments