Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

मुख्यमंत्री ने छत्रपति शिवाजी की मूर्ति का किया अनावरण

जनकल्याणकारी योजनाओं के तहत हितग्राहियों को 4.70 करोड़ रूपए के चेक वितरित किए चिटफण्ड कंपनी के 4 हजार 309 निवेशकों को लौटाई 2 करोड़ 84 लाख 20 ...



जनकल्याणकारी योजनाओं के तहत हितग्राहियों को 4.70 करोड़ रूपए के चेक वितरित किए

चिटफण्ड कंपनी के 4 हजार 309 निवेशकों को लौटाई 2 करोड़ 84 लाख 20 हजार रूपए की राशि

8 हितग्राहियों को वितरित किए गए छत्तीसगढ़ अनाधिकृत विकास का नियमितीकरण प्रमाण-पत्र

रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज जिला मुख्यालय राजनांदगांव के बूढ़ासागर स्थित छत्रपति शिवाजी पार्क में छत्रपति शिवाजी की मूर्ति का अनावरण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित हितग्राहियों को 4 करोड़ 70 लाख 47 हजार 988 रूपए के चेक एवं छत्तीसगढ़ अनाधिकृत विकास का नियमितीकरण प्रमाण-पत्र प्रदान किए। मुख्यमंत्री ने चिटफण्ड कंपनी सहारा इंडिया में निवेश करने वाले 4 हजार 309 निवेशकों को 2 करोड़ 84 लाख 20 हजार 238 रूपए के चेक प्रदान किए।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस अवसर पर अपने उद्बोधन में कहा कि इतिहास पुरूष छत्रपति वीर शिवाजी की स्मृति में आज उनकी मूर्ति का अनावरण किया गया। इस कार्यक्रम में शासन की विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत हितग्राहियों को राशि का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आज सहारा इंडिया के 4 हजार 309 निवेशकों को उनके गाढ़े पसीने की कमाई के निवेश किए गए 2 करोड़ 84 लाख 20 हजार 238 रूपए की राशि चेक के माध्यम से लौटाई जा रही है। छत्तीसगढ़ पहला राज्य है जो चिटफंड कंपनियों पर कार्रवाई कर निवेशकों द्वारा जमा की गई राशि की वसूली इन कंपनियों से कर निवेशकों को लौटा रहा है। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा जनसामान्य के लिए बहुत सी लोककल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं। छत्तीसगढ़ के गांवों, शहरों, कस्बों के विकास की गति तेज हुई है। स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वच्छता के लिए शासन लगातार कार्य कर रहा है। किसान, व्यापारी, महिलाएं सभी शासन की विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित हो रहे हैं और छत्तीसगढ़ विकास की दिशा में तेजी से आगे अग्रसर है। 
उन्होंने कहा कि भेंट-मुलाकात के दौरान समाज प्रमुखों से मुलाकात हुई और उनकी मांग पर अनेक सामाजिक भवनों की राशि स्वीकृत की गई। सामाजिक भवनों के माध्यम से सामाजिक बन्धुत्व, समाज के विकास एवं उत्थान की बातें होंगी। उन्होंने सभी को इसके लिए बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

महापौर श्रीमती हेमा देशमुख ने कहा कि राजनांदगांव की भूमि साहित्यकारों की भूमि है। साहित्यकार डॉ. पदुमलाल पुन्ना लाल बख्शी, श्री गजानन माधव मुक्तिबोध एवं डॉ. बलदेव प्रसाद मिश्र से जुड़ी त्रयी की भूमि है। संस्कारधानी नगरी में शिवाजी की मूर्ति अब शौर्य का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के बावजूद विकास की गति अबाधित रही। उन्होंने मुख्यमंत्री को नगर के सौंदर्यीकरण के लिए 4 करोड़ रूपए की राशि तथा पुन्नी मेला के लिए 2 करोड़ रूपए की राशि तथा 11 समाज को सामाजिक भवन के लिए 15 करोड़ रूपए की राशि स्वीकृति देने के लिए हार्दिक धन्यवाद दिया।

कार्यक्रम में अध्यक्ष छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण एवं अन्य पिछड़ा वर्ग क्षेत्र विकास प्राधिकरण श्री दलेश्वर साहू, खुज्जी विधायक श्रीमती छन्नी साहू, अध्यक्ष छत्तीसगढ़ राज्य अंत्यावसायी सहकारी वित्त एवं विकास निगम श्री धनेश पाटिला, अध्यक्ष छत्तीसगढ़ राज्य युवा आयोग श्री जितेन्द्र मुदलियार, अध्यक्ष जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित श्री नवाज खान, अध्यक्ष राजगामी संपदा न्यास श्री विवेक वासनिक, नगर पालिक निगम राजनांदगांव के अध्यक्ष श्री हरिनारायण धकेता सहित अनेक जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं बड़ी संख्या में जनसामान्य उपस्थित थे।




मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कार्यक्रम में 972 हितग्राहियों को मुख्यमंत्री नोनी सशक्तिकरण योजना, सफाई कर्मकार प्रसूति सहायता योजना, ठेका श्रमिक, घरेलू महिला कामगार एवं हमाल श्रमिक प्रसूति सहायता योजना एवं उनके बच्चों को छात्रवृत्ति, असंगठित कर्मकार प्रसूति सहायता योजना एवं छात्रवृत्ति, मिनीमाता महतारी जतन योजना, असंगठित कर्मकार मृत्यु एवं दिव्यांग सहायता योजना, मुख्यमंत्री निर्माण श्रमिक मृत्यु एवं दिव्यांग सहायता योजना, मुख्यमंत्री श्रमिक सियान सहायता योजना, सफाई कर्मकार के बच्चे हेतु छात्रवृत्ति योजना के तहत 1 करोड़ 86 लाख 27 हजार 750 रूपए के चेक वितरित किए। छत्तीसगढ़ अनाधिकृत विकास का नियमितीकरण के तहत 8 हितग्राही श्री महेष कुमार निनावे, श्रीमती सुषमा रोकड़े, श्री मनोहर तलरेजा, श्रीमती दीपाली तलरेजा, श्री गोविन्द सोनी, श्री सुरेन्द्र कुमार, श्री मयाराम गंगबेर, श्री पंकज कुमार चौधरी को नियमितीकरण प्रमाण पत्र तथा चिटफण्ड कंपनी सहारा इंडिया के 4 हजार 309 निवेशकों को निवेश राशि 2 करोड़ 84 लाख 20 हजार 238 रूपए का चेक प्रदान किया।

No comments