Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

राष्ट्रीय रोजगार निति बनाये केंद्र सरकार : तेजेंन्द्र तोड़ेकर

राष्ट्रीय रोजगार संवाद में शामिल होने दिल्ली पहुँचे आप यूथ के प्रदेश अध्यक्ष तेजेंन्द्र तोड़ेकर abernews रायपुर । देश की बात फाउंडेशन द्वारा ...


राष्ट्रीय रोजगार संवाद में शामिल होने दिल्ली पहुँचे आप यूथ के प्रदेश अध्यक्ष तेजेंन्द्र तोड़ेकर
abernews रायपुर । देश की बात फाउंडेशन द्वारा दिल्ली के शाह ऑडोटोरियम में 23, 24 मार्च को आयोजित गया है सम्मेलन में आम आदमी पार्टी यूथ विंग छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष तेजेंन्द्र तोड़ेकर, प्रदेश संगठन मंत्री आशुतोष गोपाल, प्रदेश सचिव गजानंद लहरे, व यूथ विंग के प्रतिनिधि दिल्ली पहुँचे, कार्यक्रम का शुभारंभ देश की बात फाउंडेशन के संस्थापक सदस्य गोपाल राय ने देश के शहीदों को नमन करते हुये शुरुवात की, गोपाल राय ने कहा आज देश बेरोज़गारी के भयावह संकट से जूझ रहा है। बड़ी-बड़ी डिग्रियाँ लेकर भी युवा आज काम के लिए दर-दर भटक रहे हैं । रोज़गार का सृजन करना तो दूर देश भर में लाखों खाली पड़ी सरकारी वकेैंसी पर भी भर्तियाँ नहीं निकली जा रही है, जहां भर्तियाँ हो भी रही है वहाँ ठेके दारी व्यवस्था के तहत नियुक्तियाँ हो रही है, आज प्राइवेट सेक्टर में भी रोज़गार के नए अवसर पैदा होने की जगह छटनी की तलवार लोगों के सर पर मंडरा रही है। बेरोज़गारी के समाधान के लिए भारत में आज़ादी के बाद भी रोजगार की नीति बनाने की ज़रूरत थी, पर अभी तक सरकारें कामयाब नहीं हुई है, हमारी अब तक की सरकारों ने वैसी नीतियां नही बनाई, यही मुख्य कारण है जिसकी वजह से आज़ादी के सात दशकों के बाद भी, रोज़गार का अवसर - सभी के लिए बुनियादी जरूरतों में से एक है, पहले से ही बेरोज़गारी की मार झेल रही हमारी अर्थव्यवस्था को कोरोना ने और भी भयावह बना दिया, आज गांव से लेकर शहरों तक बेरोजगारी हावी है , भारत देश मे संसाधन की कोई कमी नही है इसके बावजूद आज भारत मे ज्यादातर युवा बेरोजगार है अब समय आ गया है देश में रोजगार नीति बनाने की जरूरत है । छत्तीसगढ़ से प्रतिनिधि बन कर पहुँचे तेजेंन्द्र तोड़ेकर ने कहा कि आज देश मे हर तरफ चाहें निजी क्षेत्र हो या सरकारी रोजगार का सृजन नहीं हो पा रहा है सरकारी क्षेत्रों में करोड़ो नॉकरियाँ रिक्त है इसके बावजूद सरकार भर्तियाँ नही निकाल पा रही है अब समय आ गया है सरकार नई रोजगार नीति बनाये ।

No comments