Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

अपह्रत इंजीनियर और मजदूर को नक्सलियों ने किया रिहा

  बेटी ने मोदी से लगाई थी गुहार बीजापुर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर से बंधक बनाए गए इंजीनियर अशोक पवार और मजदूर आनंद यादव को 5वें दिन मंगलवार देर ...

 बेटी ने मोदी से लगाई थी गुहार
बीजापुर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर से बंधक बनाए गए इंजीनियर अशोक पवार और मजदूर आनंद यादव को 5वें दिन मंगलवार देर रात नक्सलियों ने रिहा कर दिया है। इसके बाद जवान दोनों को लेकर बेदरे कैंप पहुंच गए हैं। वहां पर दोनों का मेडिकल कराने के साथ ही पूछताछ की गई। बताया जा रहा है कि ऐसा पहली बार हुआ है, जब नक्सलियों ने बिना जन अदालत लगाए और बिना किसी डिमांड के जहां से अगवा किया था, वहीं पर छोड़ कर गए हैं। इंजीनियर अशोक पवार और मजदूर आनंद यादव को नक्सली मंगलवार रात 9.15 बजे से 9.30 बजे के बीच बेदरे में इंद्रावती नदी पर पुल निर्माण स्थल पर छोड़कर चले गए। इसकी सूचना मिलने पर जवान मौके पर पहुंचे और दोनों को बेदरे कैंप ले गए। वहां पर उनसे पूछताछ की गई है। बताया जा रहा है कि इंजीनियर अशोक पवार की पत्नी सोनाली अभी भी जंगलों में पति को तलाश कर रही हैं। आशंका है कि वह नारायणपुर के जंगलों में चली गई हैं। सोनाली मध्यप्रदेश के होशंगाबाद की रहने वाली हैं। बताया जा रहा है कि इंजीनियर और मजदूर दोनों को सुबह बीजापुर जिला मुख्यालय लाया गया। यहां पर जवान उन्हें परिवार को सौंपेंगे। इस बीच इंजीनियर की पत्नी सोनाली को भी मुख्यालय बुलाने की तैयारी की जा रही है। बीजापुर एएसपी पंकज शुक्ला ने कंस्ट्रक्शन कंपनी के दोनों कर्मचारियों के सकुशल मिलने और कैंप में रखे जाने की पुष्टि की है। खास बात यह रही कि नक्सलियों ने बंधकों को वहीं छोड़ा जहां से लेकर गए। पकड़े जाने के डर से नक्सली ऐसा कदम नहीं उठाते हैं।
सुबह इंजीनियर की बेटी ने की थी पीएम से अपील
इससे पहले मंगलवार सुबह ही इंजीनियर की बेटी और पत्नी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद की अपील की थी। इसका वीडियो भी सामने आया है। इसमें इंजीनियर की बेटी निकिता मार्मिक अपील करते हुए कह रही है कि प्रधानमंत्री जी हमारे पापा को छुड़वा दीजिए। इसके बाद वह कहती है कि मेरी मां भी मुझे छोड़कर जंगल में पापा को ढूंढने चली गई हैं। वहीं इंजीनियर की पत्नी सोनाली ने सीएम से मदद की गुहार लगाई थी।
इंद्रावती नदी पर बन रहे पुल निर्माण स्थल से ले गए थे नक्सली
इंजीनियर अशोक पवार और उनकी पत्नी सोनाली पवार अपने दो बच्चों के साथ मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में रहते हैं और हाल ही में वह बस्तर आए हैं। इंजीनियर अशोक पवार एक प्राइवेट कंस्ट्रक्शन कंपनी में नौकरी करते हैं। इसी प्राइवेट कंपनी ने बीजापुर जिले के नक्सल प्रभावित इलाके बेदरे में इंद्रावती नदी पर पुल बनाने का काम लिया था। इंजीनियर खुद मजदूरों से काम करवाने रोज फील्ड पर जा रहे थे। 5 दिन पहले नक्सली इसी जगह से इंजीनियर को उठाकर ले गए थे।


No comments