Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

महिला पायलटों ने रचा इतिहास, वेलकम होम, हमें आप सभी पर गर्व है : एयर इंडिया

abernews.in बेंगलुरु।   एयर इंडिया ने विमानन क्षेत्र में सोमवार को उस समय इतिहास रच दिया जब सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु की नॉन-स्टाप उड़ान मे...

abernews.in

बेंगलुरु।
  एयर इंडिया ने विमानन क्षेत्र में सोमवार को उस समय इतिहास रच दिया जब सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु की नॉन-स्टाप उड़ान में सभी महिला पायलट 238 विमान यात्रियों को लेकर यहां पहुंची। अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को शहर से उड़ान भरने के बाद यह टीम नॉर्थ पोल से होते हुए बेंगलुरु पहुंच गई है। इस दौरान करीब 16,000 किलोमीटर की दूरी तय की गई। रविवार को सैन फ्रांसिस्को से विमान उड़ान संख्या अक176 की कमांड कैप्टन जोया अग्रवाल के हाथों में थी। विमान के यात्रियों ने भी इसे एक सुखद अनुभव बताया।
17 घंटों का सफर किया तय
बेंगलुरु हवाई अड्डे पर जब विमान पहुंचा था, तो काफी संख्या में मीडियाकर्मी टर्मिनल के समीप चारों महिला पायलटों के स्वागत के लिए मौजूद थे। एयर इंडिया के मुताबिक, उड़ान संख्या अक176 शनिवार को सैन फ्रांसिस्को से रात 8:30 बजे (स्थानीय समयानुसार) रवाना हुई और यह 17 घंटों का हवाई सफर तय कर सोमवार तड़के 3:45 बजे यहां पहुंची। बता दें कि इस विमान को पूरी तरह से महिला पायलट ही चला रहे थे, जिनमें कैप्टन जोया अग्रवाल, कैप्टन पापागरी तनमई, कैप्टन शिवानी और कैप्टन आकांक्षा सोनवरे शामिल थीं।
महिला पायलटों ने बताया अनुभव
बेंगलुरु एयरपोर्ट पर लैंडिंग के बाद कैप्टन जोया अग्रवाल ने कहा, आज हमने न केवल नॉर्थ पोल पर उड़ान भरकर, बल्कि केवल महिला पायलटों द्वारा इसे सफलतापूर्वक करके एक विश्व इतिहास रचा है। हम इसका हिस्सा बनकर बेहद खुश और गर्व महसूस कर रहे हैं। इस मार्ग ने 10 टन ईंधन बचाया है। एयर इंडिया की सैन फ्रांसिस्को-बेंगलुरु की उद्घाटन फ्लाइट का संचालन करने वाली टीम में से एक पायलट शिवानी ने कहा कि यह एक रोमांचक अनुभव था, क्योंकि ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था। यहां पहुंचने में लगभग 17 घंटे लग गए।
abernews.in

एयर इंडिया ने किया स्वागत

फ्लाइट के भारत में लैंड करते ही एयर इंडिया ने अपने ट्विटर हैंडल से स्वागत किया। एयर इंडिया ने ट्वीट कर लिखा, 'वेलकम होम, हमें आप सभी (महिला पायलटों) पर गर्व है। हम अक176 के यात्रियों को भी बधाई देते हैं, जो इस ऐतिहासिक सफर का हिस्सा बने।' इसके साथ ही केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट किया, कॉकपिट में पेशेवर, योग्य और आत्मविश्वासी महिला चालक सदस्यों ने एयर इंडिया के विमान से सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु के लिए उड़ान भरी है और वे उत्तरी ध्रुव से गुजरेंगी। हमारी नारी शक्ति ने एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है।

No comments