Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

भारतीय जनता पार्टी द्वारा जबरिया दलबदल करा कर प्रजातांत्रिक मूल्यों को नष्ट किया जा रहा है

    रायपुर।  प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष धनेंद्र साहू ने कहा कि प्रजातंत्र में दलबदल को कभी भी सम्मानजनक दृष्टिकोण से नहीं देखा जाता।...

 

 रायपुर। प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष धनेंद्र साहू ने कहा कि प्रजातंत्र में दलबदल को कभी भी सम्मानजनक दृष्टिकोण से नहीं देखा जाता। इसीलिये देश के संविधान में दलबदल कानून बनाया गया है परंतु वर्तमान में केंद्र और प्रदेश में शासक पार्टी के रूप में भारतीय जनता पार्टी के द्वारा कांग्रेसियों को भय, प्रलोभन एवं डरा धमका कर विशेष अभियान चलाकर दलबदल कराये जा रहे है जो कि अत्यंत ही गैर प्रजातांत्रिक और निंदनीय है। पूरे देश एवं प्रदेश में हजारों मामले ऐसे आये है जिसमें सरकार की संवैधानिक संस्थाओं ईडी, सीबीआई, आईटी आदि के माध्यम से विभिन्न राजनीतिक दलों के बड़े नेताओं के ऊपर झूठे मुकदमें एवं झूठे आरोप में फंसाने या विभिन्न पदों का प्रलोभन देकर बड़े पैमाने पर दलबदल कराये जा रहा है जो कभी भी देश के इतिहास में इतने बड़े पैमाने पर दलबदल नहीं हुआ है। भारतीय जनता पार्टी के द्वारा बड़े पद पर आसीन राजनेताओं से लेकर पंचायत स्तर एवं बूथ स्तर तक के लोगों को डरा धमका कर उन्हें पार्टी छोड़ने और भाजपा प्रवेश करने पर मजबूर किया जा रहा है। अपने आपको सिद्धांतों एवं आदर्श पर चलने वाले पार्टी के रूप में प्रचारित करते नहीं थकते और सत्ता हासिल करने के लिये स्तरहीन राजनीति करने पर उतारू हो गये है जो कि काफी निंदनीय है। जिस राजनीतिक दल में जो लोग है वे लोग यदि विचारधारा अनुकूल नहीं होने के कारण एवं जिस पार्टी में शामिल हो रहे है उस पार्टी के विचारधारा अनुकूल होने की स्थिति में दलबदल करें तो भी बात अलग होती लेकिन डरा धमका कर या प्रलोभन देकर मजबूर करके दलबदल कराना घोर अप्रजातांत्रिक एवं निंदनीय कृत्य है। भाजपा द्वारा 400 पार का नारा दिया जा रहा परंतु उन्हें अपने ही कार्यकर्ताओं और नेताओं पर भरोसा नहीं है इसलिए अन्य दलो के नेताओं और कार्यकर्ताओं को भाजपा में प्रवेश करा कर दलबदल करा रहे है तथा भाजपा प्रदेश, जिला एवं ब्लॉक स्तर पर दलबदल अभियान समिति का गठन करके यह घोर अनुचित कार्य कर रही है।

No comments