Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

बिलासपुर सिम्स में नहीं बन रहा जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र, लोग हो रहे परेशान

  बिलासपुर। एक महीने से जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र नहीं बन पा रहा है। वजह यह है कि इसके लिए प्रदेश स्तर पर चलने वाला सरवर काम नहीं कर रहा ह...


  बिलासपुर। एक महीने से जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र नहीं बन पा रहा है। वजह यह है कि इसके लिए प्रदेश स्तर पर चलने वाला सरवर काम नहीं कर रहा है। ऐसे में नगर निगम के साथ ही सिम्स में भी ये दोनों प्रमाण पत्र नहीं बन पा रहा है। इसकी वजह से संबंधितों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिन बच्चों का जन्म प्रमाण पत्र नहीं बना है, उन्हें स्कूल में प्रवेश लेने के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वही जिनका निधन हो गया है उनका मृत्यु प्रमाण पत्र नहीं बनने से क्लेम आदि के काम नहीं हो पा रहे हैं। इन समस्याओं को देखते हुए नगर निगम आयुक्त अमित कुमार से लोगों ने जन्म-मृत्यु प्रमाण मेनवुल बनाए जाने की मांग रखी गई है। जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने का सर्वर राज्य स्तर पर चलता है। जैसे-जैसे ये दोनों प्रमाण पत्र बनते है, वैसे-वैसे इसकी जानकारी शासन के पास पहुंच जाती है। वहीं हितग्राही को भी समय पर प्रमाण पत्र मिल जाता है। लेकिन महीनेभर से सर्वर ठप पड़ा हुआ है। जिसे अब तक नहीं सुधारा नहीं गया है। इसके साथ ही सर्वर का सुधार कब तक किया जाएगा यह भी कोई स्पष्ट नहीं किया जा रहा है। जन्म-मृत्यु प्रमाण नहीं बनने से जरूरतमंद लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सिम्स पहुंच रहे जरूरतमंद लोगों को बेरंग वापस लौटाया जा रहा है। मौजूदा स्थिति ऐसे अभिभावक जिनके बच्चों का जन्म प्रमाण पत्र नहीं बन पाया है। उन्हें अब अपने बच्चों को स्कूल में प्रवेश दिलाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। स्कूल प्रबंधन जन्म प्रमाण पत्र की मांग कर रहे है, जिससे अभिभावक जन्म प्रमाण पत्र को लेकर परेशानी में फंसे गए है। इसी तरह निधन होने के बाद मृत्यु प्रमाण पत्र नहीं बनने की वजह से क्लेम, पेंशन आदि कार्य की प्रक्रिया अटक गई है। इन समस्याओं को देखते हुए ही पार्षद विजय ताम्रकार ने नगर निगम आयुक्त अमित कुमार को ज्ञापन सौंपकर जब तक सर्वर नहीं बन जाता है तब तक मेनवुल जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाए जाने की मांग रखी है। ताकि जिनको जरूरत है, वे मेनवुल प्रमाण पत्र से मौजूदा स्थिति में अपना काम चला सके।

No comments