Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

रायपुर के सर्वाधिक 154 गांव, जहां शत-प्रतिशत पहुंच रहा नल से जल

  रायपुर। हर घर नल से जल के सपने को साकार करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से शुरू किए गए जल जीवन मिशन के तहत प्रदेश के 33 जिल...

 

रायपुर। हर घर नल से जल के सपने को साकार करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से शुरू किए गए जल जीवन मिशन के तहत प्रदेश के 33 जिलों के 50,00,571 घरों में पेयजल पहुंचाना है। इसमें से 38,79,315 घरों में नल से जल के सपने को साकार किया जा चुका है। प्रदेश में 77.58 प्रतिशत लक्ष्य को पूरा कर लिया गया है। शेष घरों में नल से जल पहुंचाने के लिए तेजी से काम हो रहा है। घर-घर जल पहुंचने से गांवों की तस्वीर बदल रही है। महिलाओं की समस्याएं भी कम हो रही हैं। अब महिलाओं को पेयजल के लिए कोसों दूर से नदी, कुंआ और झिरिया से पानी लाने के लिए जद्दोजहद नहीं करनी पड़ रही है। प्रदेश के 33 जिलों के 2,186 गांवों में हर घर जल को शत-प्रतशित पूरा कर लिया गया है। 665 गांव सरकार की ओर से प्रमाणित भी हो चुके हैं। 17 जिलों में 76 प्रतिशत से अधिक घरों में नल से जल पहुंच रहा है। धमतरी जिले में 97.89 और रायपुर जिले में 92.97 प्रतिशत घरों में नल से जल पहुंच रहा है। सुकमा जिले के ग्राम पंचायत झापरा के गांव कोसाबंदर में 83 परिवार हैं। जल जीवन मिशन कार्यक्रम शुरू होने पूर्व गांव में 11 हैंडपंप और चार बोरवेल लगे थे जिनमें से ज्यादातर गर्मियों में सूख जाते थे। अब जल जीवन मिशन योजना के तहत सोलर आधारित पेयजल योजना के माघ्यम से पर्याप्त मात्रा में शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है। महिलाओं का कहना है कि खेत में कृषि कार्य करने के पश्चात घर आने पर पानी के लिए दूर हैंडपंप और कुंआ जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। घर के द्वार पर ही दैनिक उपयोग के लिए पर्याप्त मात्रा में शुद्ध पानी मिल रहा है। 

No comments