Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

हमले से बचने नक्‍सलियों ने आतंकियों की तरह बनाई सुरंग, जवानों ने किया ध्‍वस्‍त

   दंतेवाड़ा। छत्‍तीसगढ़ के नक्‍सली प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में पुलिस को सर्चिंग के दौरान एक सुरंग की जानकारी मिली है। माना जा रहा है कि न...

 

 दंतेवाड़ा। छत्‍तीसगढ़ के नक्‍सली प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में पुलिस को सर्चिंग के दौरान एक सुरंग की जानकारी मिली है। माना जा रहा है कि नक्‍सली जवानों पर हमला करने और छुपने के लिए इस सुरंग का इस्‍तेमाल करते होंगे। नक्‍सलियों के इस सुरंग का वीडियो भी सामने आया है। हालांकि पुलिस ने नक्‍सलियों के इस सुरंग का ध्‍वस्‍त कर दिया है।  दरअसल, यह मंगलवार को दंतेवाड़ा पुलिस को नक्‍सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में भैरमगढ़ और इंद्रावती एरिया कमिटी के प्लाटून नंबर 16 के कमांडर डीवीसीएम मल्लेश सहित सशस्त्र 25- 30 नक्सलियों की मौजूदगी की खबर मिली। इलाके में नक्‍सलियों की मौजूदगी की खबर के बाद डीआरजी बस्तर फाइटर्स तथा सीआरपीएफ 230 यंग प्लाटून टीम द्वारा संयुक्त नक्सल गश्त सर्चिंग अभियान चलाया गया था। इसी दौरान घात लगाए नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। नक्‍सलियों ने मुठभेड़ के दौरान जवानों पर स्वचालित एके-47, इंसास, एसएलआर तथा भरमार जैसे हथियारों से फायरिंग की। इतना ही नहीं नक्‍सलियों ने जवानों पर बीजीएल भी दागे। हालांकि सुरक्षाबल के जवानों ने नक्‍सलियों को मुंहतोड़ जवाब दिया। इस मुठभेड़ में जवानों ने कई नक्सलियों के घायल होने का दावा किया है। मुठभेड़ के बाद इलाके में सर्चिंग पर निकले जवानों को नक्‍सलियों के इस सुरंग की जानकारी मिली। इंद्रावती नदी के पार बीजापुर-दंतेवाड़ा की सीमा पर घने जंगलों के बीच यह सुरंग बनाया गया है। यह सुरंग करीब 10 फीट गहरी और 3 फीट चौड़ी है। माना जा रहा है कि नक्‍सली जवानों पर हमला करने और छुपने के लिए इस सुरंग का इस्‍तेमाल करते होंगे। बताया जा रहा है कि करीब 2 से 3 महीने पहले ही नक्सलियों ने इस सुरंग को बनाया है, जिसे जवानों ने ध्‍वस्‍त कर दिया है। पुलिस का कहना है कि फिलिस्तीन, ईरान और इराक जैसे देशों में आतंकवादी जवानों के हमले से बचने के लिए ऐसे ही सुरंग का इस्तेमाल करते हैं।

No comments