Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

स्वामी विवेकानंद के आदर्शाें पर चलकर युवा बनाएं भारत को विश्वशक्ति

     कृषि विश्वविद्यालय में युवा दिवस पर ‘‘ऊर्जावान युवा - प्रगतिशील प्रदेश’’ विषय पर एक दिवसीय संगोष्ठी आयोजित   रायपुर। राष्ट्रीय युवा द...

   

कृषि विश्वविद्यालय में युवा दिवस पर ‘‘ऊर्जावान युवा - प्रगतिशील प्रदेश’’ विषय पर एक दिवसीय संगोष्ठी आयोजित
 
रायपुर। राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर आज यहां इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर तथा ट्रांसफ़ार्म रूरल इंडिया के संयुक्त तत्वावधान में ‘‘ऊर्जावान युवा - प्रगतिशील प्रदेश’’ विषय पर एक दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी का शुभारंभ धरसींवा विधायक, पद्मश्री श्री अनुज शर्मा के ने किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. गिरीश चंदेल की।  मुख्य अतिथि श्री अनुज शर्मा ने विद्यार्थियों को संबोधिक करते हुए कहा कि आज स्वामी विवेकानंद की जयंती को पूरा देश राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मना रहा है। उन्होंने कहा कि एक नरेन्द्र (स्वामी विवेकानंद) वो थे जिन्होंने भारत को ज्ञान के मामले में विश्व गुरू के रूप में पहचान दिलाई और एक नरेन्द्र (प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी) हैं जो भारत को विश्व की आर्थिक महाशक्ति बनाने हेतु प्रयासरत हैं। उन्होंने युवाओं से आव्हान किया कि वे स्वामी विवेकानंद के बताए हुए मार्ग पर चल कर भारत को विश्व शक्ति बनाने में सहयोग करें। समारोह की अध्यक्षता करते हुए कुलपति डॉ. चंदेल ने कहा कि भारत युवा आबादी के मामले में विश्व में सबसे आगे है, इस विशाल युवा शक्ति को उचित मार्गदर्शन देकर देश के विकास को नया आयाम दिया जा सकता है। उन्होंने कृषि क्षेत्र में युवाओं की भागीदारी कम होने का उल्लेख करते हुए युवाओं को देश के कृषि विकास में सहभागी होने का आव्हान किया। डॉ. चंदेल ने कहा कि इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में आगामी शिक्षा सत्र से नई शिक्षा नीति पूर्णतः लागू हो जाएगी जिसमें शिक्षा को रोजगार से जोड़कर गांवों के विकास का मार्ग प्रशस्त किया जा सकेगा। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथ के रूप मे ट्रांसफॉर्म रूरल इंडिया फउंडेशन के संयुक्त निदेशक सुश्री नीरजा कुद्रिमोती श्री यज्ञदत्त वर्मा थे। नीरजा कुद्रिमोती ने कहा कि युवा भारत का भविष्य हैं और युवाओं के द्वारा अनेक तकनीकी नवाचार किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि ट्रांसफॉर्म रूरल इंडिया फउंडेशन छत्तीसगढ़ में महिला स्व-सहायता समूहों तथा कृषक उत्पादक संगठनों के माध्यम से महिला सशक्तिकरण तथा ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देने का कार्य कर रही है। संगोष्ठी के मुख्य वक्ता के रूप में छत्तीसगढ़ महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. टोपलाल वर्मा ने विद्यार्थियों को स्वामी विवेकानंद के विचारों एवं जीवन मूल्यों पर केन्द्रित व्याख्यान दिया। उन्होंने स्वामी विवेकानंद से जुड़े अनेक किस्से सुनाएं तथा युवाओं से आव्हान किया कि वे स्वामी जी के आदर्शाें एवं सिद्धांतों पर चलकर भारत को विकसित बनाने में सहयोग करें। कार्यक्रम के दूसरे सत्र में ट्रांसफॉर्म रूरल इंडिया फउंडेशन द्वारा युवाओं हेतु उपलब्ध कृषि उद्यमिता के अवसरों पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम के तीसरे सत्र में युवा उद्यमियों समूह चर्चा की गई जिसका विषय ‘‘युवा आकांक्षाएं नीति एवं कार्यक्रम’’ (कृषि उद्यमिता - स्टार्टअप) था। इस समूह चर्चा में छत्तीसगढ़ में कृषि आधारित स्टार्टअप स्थापित करने वाले युवा उद्यमी शामिल हुए तथा उनके द्वारा संचालित स्टार्टअप के बारे में जानकारी प्रदान की। कार्यक्रम के दौरान इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ. संजय शर्मा, संचालक अनुसंधान डॉ. विवेक कुमार त्रिपाठी, निदेशक विस्तार डॉ. अजय वर्मा, कृषि महाविद्यालय रायपुर के अधिष्ठाता डॉ. जी.के. दास, विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष, प्राध्यापक, वैज्ञानिक एवं बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

No comments