Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

भाजपा के नेताओ जिस समय सोकर उठते है उससे पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल किसान हित में फैसला कर चुके होते हैं : धनंजय सिंह ठाकुर

रायपुर।  पूर्व कृषि मंत्री एवं विधायक बृजमोहन अग्रवाल के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कह...


रायपुर।  पूर्व कृषि मंत्री एवं विधायक बृजमोहन अग्रवाल के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा के नेता जिस समय सो कर उठते हैं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार किसान हित में महत्वपूर्ण और मद्दगार फैसला कर चुकी होती है। जिस प्रकार से अल्प वर्षा, खंड वर्षा और जहां सूखा के हालात उत्पन्न हुए हैं परिस्थितियों को देखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने सूखा आकलन करने एवं प्रदेश के जलाशयो, बांधो से सिंचाई के लिए पानी छोड़ने तथा कृषि पंपों को सिंचाई के लिये पर्याप्त बिजली देने निर्देश दिए हैं।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा की बृजमोहन अग्रवाल को अपने भाजपा सरकार के 15 साल के कार्यकाल का आत्म अवलोकन करना चाहिए जब प्रदेश में सूखा पड़ता था तब जलाशयों के पानी किसानों को देने के बजाय भाजपा अपने उद्योगपति मित्रों को जलाशय का पानी देती थी। कृषि पंपों को बिजली नही दिया जाता था। फसल बीमा का मुआवजा राशि नहीं मिलता था। मनरेगा में काम करने वालों को मजदूरी का भुगतान नहीं किया जाता था और किसान जब सिंचाई के लिए जलाशय का पानी मांगते थे तब उस दौरान रमन सिंह की सरकार किसानों को लाठियों से पिटवाती थी।15 साल के रमन सरकार के दौरान छत्तीसगढ़ के किसान हताश परेशान थे उस दौरान किसानों की आत्महत्या की घटनाएं होती थी किसान कर्ज के बोझ तले दबा होता था और अपनी कृषि जमीन को बेचने मजबूर था।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार ने छत्तीसगढ़ीयों के 18 लाख मकान का आवंटन रद्द किया तो भाजपा के सांसद मौन क्यों थे? छत्तीसगढियो के साथ मोदी सरकार के द्वारा की जा रही भेदभाव का समर्थन भाजपा क्यों कर रही है? छत्तीसगढ़िया बच्चों को निशुल्क अंग्रेजी शिक्षा प्राप्त हो रही है तो भाजपा के पेट में दर्द क्यों हो रहा हैं? छत्तीसगढ़ ने देखा है किस प्रकार 3000 से अधिक स्कूलों को बंद कर रमन भाजपा की सरकार ने छत्तीसगढ़िया बच्चों को शिक्षा से वंचित करने का षड्यंत्र रचा था। रमन सरकार के दौरान छत्तीसगढ़िया युवाओं के सरकारी नौकरी को आउटसोर्सिंग के माध्यम से बेचकर किस प्रकार से परदेसियों को छत्तीसगढ़ में नौकरी दिया गया था। 15 साल के रमन भाजपा सरकार के दौरान छत्तीसगढ़ीयों की उपेक्षा होती रही है छत्तीसगढ की कला संस्कृति तीज त्यौहार परंपरा रीति रिवाज संस्कार खानपान बोली भाषा विलुप्त होने के कगार पर रही है
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि बृजमोहन अग्रवाल को पता है उनकी केंद्र की सरकार 2करोड़ रोजगार प्रतिवर्ष देने का वादा कर देशभर के युवाओं का वोट हासिल की थी आज उन युवाओं को रोजगार देने में असफल साबित हो गई है। देश बेरोजगारी के मामले में 45 साल पुरानी हालात में खड़ी हुई है। वहीं राज्य की कांग्रेस की सरकार प्रदेश में रोजगार स्वरोजगार और सरकारी नौकरी के द्वार खोलकर रोजगार देने में सफलता अर्जित की है जिस का ही परिणाम है कि रमन सरकार के दौरान 2018 में बेरोजगारी दर 22 प्रतिशत था आज घटकर एक प्रतिशत से नीचे 0.6 प्रतिशत पर है वहीं केंद्र सरकार के गलत नीतियों के चलते देश रोजगार के विकराल संकट से जूझ रहा है।

No comments