Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

धर्म संसद आयोजक की राजनीति में हो वापसी स्वच्छ छबि के ऐसे हिन्दू नेता देश के लिए आवश्यक :कालीचरण महाराज

abernews रायपुर । धर्म संसद आयोजक पंडित नीलकण्ठ त्रिपाठी की राजनीति में वापसी हो सकती है। कालीचरण महाराज ने मीडिया से बात करते कहा कि एक स्व...


abernews रायपुर । धर्म संसद आयोजक पंडित नीलकण्ठ त्रिपाठी की राजनीति में वापसी हो सकती है। कालीचरण महाराज ने मीडिया से बात करते कहा कि एक स्वच्छ छवि के कट्टर हिन्दू सनातनी नेता की देश को आवश्यकता है। नीलकण्ठ त्रिपाठी को राजनीति में वापस आना चाहिए। क्योंकि इनके साथ एक मजबूत युवा टीम है। और एक कट्टर सनातनी नेता होने के नाते नीलकण्ठ त्रिपाठी को राजनीति में वापसी कर चुनाव लड़ना चाहिए।
  बता दे पंडित नीलकण्ठ त्रिपाठी ने ही धर्म संसद 2021 छत्तीसगढ़ का आयोजन रायपुर में दिसंबर 25, 26 को किया था। जिसमे कालीचरण महाराज ने महात्मा गांधी के बारे में आपत्ति जनक टिप्पणी की थी। जिसके वजह से उनके ऊपर राजद्रोह की धारा लगाकर 95 दीन के लिए कारावास में जाना पड़ा था। और उसी दौरान विवाद में आये नीलकण्ठ त्रिपाठी ने एनसीपी से राष्ट्रीय सचिव के पद से स्तीफा देदिया था।  नीलकण्ठ त्रिपाठी ने उस समय यही कहा कि धर्म से ऊपर राजनीति नही। वही कालीचरण महाराज का कहना है कि धर्म की रक्षा के लिए राजनीति में आना जरूरी है। जिसके लिए नीलकण्ठ त्रिपाठी को अपनी तैयारी कारण जरूरी है।
   कालीचरण महाराज कल 4 अप्रैल को जेल से रिहा होने के बाद चामुंडा माता एवं काली माता के दर्शन कर सीधा धर्म संसद आयोजक नीलकण्ठ त्रिपाठी के निवास में गए थे। वही उनके निवास में कालीचरण महाराज जी से बंद कमरे में कुछ देर चर्चा हुई। और नीलकण्ठ त्रिपाठी को राजनीति में वापस आने के लिए कहा गया और हिंदुओं के लिए चुनाव लड़ने की कालीचरण महाराज ने नीलकण्ठ त्रिपाठी से आग्रह किया और कहा कि एनसीपी से स्तीफा देना नीलकण्ठ त्रिपाठी का निर्णय सही और सराहनीय है। ऐसे ही हिंदुत्व को लेकर कार्य करने को कहा है। कालीचरण महाराज, नीलकंठ त्रिपाठी के निवास में उनके परिवार वालो से और अपने समर्थकों से भेंट कर दूसरे दिन इंदौर के लिए निकल गए।
 अभी नीलकण्ठ त्रिपाठी किस पार्टी में जाएंगे और चुनाव लड़ेंगे उसका खुलासा नही हुआ है।

No comments