Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

कोटवारी जमीन को बतौर निजी भूमि के फैक्ट्री मालिक को बेचना एक राजनीतिक षडयंत्र : मेहरबान सिंह

मुख्यमंत्री द्वारा फैक्ट्री के साथ एमओयू सवालों के घेरे में : आप abernews रायपुर। आम आदमी पार्टी  के दुर्ग जिलाध्यक्ष मेहरबान सिंह ने रायपुर...


मुख्यमंत्री द्वारा फैक्ट्री के साथ एमओयू सवालों के घेरे में : आप

abernews रायपुर। आम आदमी पार्टी  के दुर्ग जिलाध्यक्ष मेहरबान सिंह ने रायपुर प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि कोटवारी जमीन की गलत तरीके से खरीदी हो जाए और उक्त जमीन पर एटमास्कों नाम की कंपनी की फैक्टरी खड़ी हो जाए और फिर उस कंपनी के साथ
मुख्यमत्री एम. ओ. यु साईन करे तब आप इसे क्या कहेगें? और अगर यह घटना एक आम इंसान के साथ हो जाए तो चल भी जाए लेकिन अगर प्रदेश के मुख्यमंत्री के साथ ऐसी घटना हो तो? इस षडयंत्र पीछे कौन कौन है यह जांच का विषय है।

आम आदमी पार्टी जिला दुर्ग ने राज्यपाल महोदया को जिलाधीश के माध्यम से ज्ञापन सौपंकर अपनी शिकायत पर अविलंब जांचकर कार्यवाही की मागं की है। 

मेहरबान सिंह ने बताया कि वर्ष 2009 में भाजपा सरकार के कार्यकाल में जिला दुर्ग तहसील धमधा ग्राम बिरेभाट में ग्राम सेवक कोटवार नारायण प्रसाद पिता अभे राम ने कोटवारी को भिलाई निवासी एस. स्वामीनाथन पिता सुब्रमण्यम को 16.25.000 रूपए में बेच दिया जिसका पंजीयन 19.08.2009 को हुआ। उस जमीन का खसरा नंबर 634 एवं 644 तथा रकबा 0.29 एवं 1.29 है। उक्त जमीन को विधि विरूद्ध नियमों को ताक में रखकर कलेक्टर की अनुमति के बगैर बेच दिया गया।

यह सब राजनैतिक सरंक्षण के बगैर संभव नहीं है जबकि यह जमीन सरकार की तरफ से कोटवार को जीवन यापन के लिए दी जाती है।
उक्त जमीन के सौदे में सबसे रोचक तथ्य ये है कि छ.ग.में भाजपा सरकार के कार्यकाल में ग्राम सेवक कोटवार नारायण प्रसाद अपनी जमीन बेच देता है भू अभिलेख,पटवारी रिकार्ड में एस.स्वामीनाथन का नाम भूमि स्वामी के रूप में विधि विरूद्ध चढ़ जाता है और फिर वहां फक्टरी खडी हो जाती है और कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में छ.ग. के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल गलत तरीके से खरीदी हुई उस जमीन पर बडी कंपनी के साथ वर्ष 2020 में एम.ओ.यु साईन करतें है। उससे भी रोचक तथ्य ये है कि अवैधानिक तरीके से खडी की गई कंपनी के साथ साईन किए गए एम.ओ. यु के तहत बुलेटप्रूफ जैकेट तथा हेलमेंट बनेगें। रक्षा श्रेणी उद्योग की पहली उत्पादन ईकाई की स्थापन के लिए एम.ओ.यु. साईन हुआ। यह औद्योगिक ईकाई भारत सरकार के लिए विभिन्न शस्त्र सेनाओं यथा थल सेना बी.एस.एफ., सी.आर.पी. एफ.तथा सरकार के सशस्त्र बलों लिए जहां बुलेटप प्रूफ जेकेट तथा हेलमेट उत्पादन करना था लेकिन आज दिनाक तक इस इस प्रकार का कोई उत्पादन शूरू नहीं हुआ। 

आखिर काटवारी जमीनों का नामातंरण कैसे हो गया ? कांग्रेस भाजपा के कार्यकाल में भ्रष्टाचार करने के लिए किसी भी हद तक जाने का यह प्रत्यक्ष उदाहरण है। क्या हमसब जान पायेगे की एटमास्कों कंपनी के पीछें कौन है जो यह सब करवा रहा है क्योंकि पूरी घटना कांग्रेस भाजपा दोनो के कार्यकाल की है। तो क्या दोनों पार्टियों ने मिलकर षड़ंयत्र किया क्या दोनो पार्टी के लोगों का इनवेस्टमेंट है?
प्रेसवात्ता में आम आदमी पार्टी की ओर से मेहरबान सिंह,प्रदेश उपाध्यक्ष वदुद आलम,प्रदेश मीडिया प्रभारी जयंत गायधने व प्रदेश मीडिया टीम से मिहिर कुर्मी,ईब्राहिम आदि सदस्य उपस्थित रहे।

No comments