Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

छत्तीसगढ़ के भाजपा नेताओं ने नगरीय निकाय चुनाव संभल नहीं रहा पुरंदेश्वरी को मोर्चा संभालना पड़ा : सुशील आनंद शुक्ला

छत्तीसगढ़ को अपमानित करने वाला पुरंदेश्वरी का थूकने वाला बयान भी मुद्दा abernews रायपुर। भारतीय जनता पार्टी की छत्तीसगढ़ प्रदेश प्रभारी डी.पुर...


छत्तीसगढ़ को अपमानित करने वाला पुरंदेश्वरी का थूकने वाला बयान भी मुद्दा

abernews रायपुर। भारतीय जनता पार्टी की छत्तीसगढ़ प्रदेश प्रभारी डी.पुरंदेश्वरी के चुनावी दौरे पर प्रदेश कांग्रेस संचार प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि गुटबाजी में डूबी भारतीय जनता पार्टी के छत्तीसगढ़ के नेताओं से नगरीय निकाय चुनाव भी नहीं संभाला जा रहा इसीलिये राष्ट्रीय प्रभारी को स्वयं मोर्चा संभालना पड़ा है। भारतीय जनता पार्टी की स्थिति पुरंदेश्वरी के मोर्चा संभालने से सुधरने के बजाय और बिगड़ेगी। छत्तीसगढ़ की जनता पुरंदेश्वरी के अपमानजनक बयान को भूली नहीं है। छत्तीसगढ़ को अपमानित करने वाला पुरंदेश्वरी का थूकने वाला बयान भी मुद्दा। भाजपा प्रभारी ने कहा था भाजपा के लोग थूक कर भूपेश बघेल और उनके मंत्रिमंडल को बहा देंगे। राज्य की स्वाभिमानी जनता भाजपा प्रभारी के इस बयान को पूरे छत्तीसगढ़ का अपमान माना था। भूपेश बघेल सिर्फ कांग्रेस के नेता नहीं है। मुख्यमंत्री के रूप में वे राज्य की पौने तीन करोड़ जनता के मुखिया भी है। पुरंदेश्वरी ने उनके बारे में अभद्र भाषा का प्रयोग कर छत्तीसगढ़ की अस्मिता को ललकारा था। उसका खामियाजा भाजपा को भुगतना पड़ेगा। भाजपा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनके पूरे मंत्रिमंडल के खिलाफ बेहद घटिया मानसिकता का परिचय देने वाली अपनी प्रभारी पुरंदेश्वरी के प्रभार में नगरीय निकाय चुनाव में करारी हार के लिए तैयार रहे।
प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के पास इस चुनाव में उठाने के लिये कोई मुद्दा ही नहीं बचा। भाजपा के नेता नगरीय निकाय चुनाव में चुनाव लड़ने की औपचारिकता मात्र कर रहे है। होने वाले हार की जवाबदेही से बचने कोई भी भाजपा नेता निकायों में सक्रिय भूमिका निभाने को तैयार नहीं है, इसीलिये पुरंदेश्वरी और नितिन नवीन को स्वयं मोर्चा संभालना पड़ रहा है ताकि उनके प्रत्याशी मतदान के पहले ही चुनाव मैदान से हार न जाये। जिस तरह से भाजपा पुरंदेश्वरी के मार्गदर्शन में शहरी इलाकों में वैमनस्य फैलाने की साजिश कर रही है, उसे जनता देख, सुन और समझ रही है। अब पुरंदेश्वरी चाहे जितना जोर लगा लें, नगरीय निकाय चुनाव में सभी जगह कांग्रेस का तिरंगा लहरायेगा।



No comments