Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

रायपुर में बैठेगी सनातन धर्म संसद , प्रदेश और देशभर के संत होगें शामिल

abernews रायपुर । छत्तीसगढ़ प्रदेश बनने के बाद पहली बार संत समाज और सनातन धर्मयों की लगेगी धर्म संसद । नीलकंठ सेवा संस्थान छत्तीसगढ़ के बैनर...


abernews रायपुर । छत्तीसगढ़ प्रदेश बनने के बाद पहली बार संत समाज और सनातन धर्मयों की लगेगी धर्म संसद । नीलकंठ सेवा संस्थान छत्तीसगढ़ के बैनर तले होने जा रही धर्म संसद का आयोजन रायपुर के रावण भाटा भाटा गांव में 25 और 26 दिसंबर को होने जा रहा है । धर्म संसद मैं प्रदेश से लगभग 150 से अधिक साधु-संतों के आने की एवं देश से अनेक साधु संत महामंडलेश्वर और स्वामी जिनकी संख्या 15 से 20 होगी वह भी इस सनातन धर्म संसद में आने की उम्मीद नीलकंठ सेवा संस्थान के संस्थापक नीलकंठ त्रिपाठी ले जाहिर की है ।

 प्रेस वार्ता में नीलकंठ त्रिपाठी ने बताया कि देश में हिंदू सनातन धर्म से युवा पीढ़ी को जोड़ने और हिंदू धर्म के प्रति अन्य धर्मों के जैसा कठोर बनने और उस पर चलने एवं सामाजिक कुरीतियों जिसमें गैर हिंदू जातियों से युवक-युवतियों के विवाह और धर्म को उन्माद का रूप ना देने के लिए आए हुए संत अपने अपने विचार व्यक्त करेंगे और इस पर एक निर्णय भी लेकर पूरे देश भर में इसका प्रचार प्रसार करेंगे । नीलकंठ त्रिपाठी ने कार्यक्रम की रूपरेखा बताते हुए कहा कि इस धर्म संसद का आयोजन दिनांक 25 दिसंबर 2021 शनिवार के दिन दूधाधारी मठ से संतो एवं मठों के मठाधीश और अखाड़ों के प्रभारियों के द्वारा निशान पूजा कर शोभायात्रा का आयोजन सुबह 10:00 बजे किया जाएगा । जो कि 12:00 बजे तक अपने आयोजन स्थल रावण भाटा पहुंचकर शोभायात्रा का विसर्जन होगा । शोभा यात्रा के बाद पुरोहितों के मंत्र उच्चारण से दीप प्रज्वलित कर इस आयोजन का विधिवत शुभारंभ किया जाएगा संतों का सम्मान पूजा-अर्चना आयोजक समिति के द्वारा की जाएगी उसके बाद सभी संतों का परिचय कराया जाएगा , इसी कड़ी में शाम को 5:00 बजे भजन संध्या का भी आयोजन किया गया है । इस आयोजन में छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह 25 दिसंबर और वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 26 दिसंबर को शामिल होंगे । देश के सम्मानित और प्रसिद्ध मठाधीश इस आयोजन में शामिल होंगे वह इस प्रकार हैं – अयोध्या के हनुमानगढ़ी के महंत रामदास जी, महाराष्ट्र से स्वामी कालीचरण जी , बनारस से स्वामी प्रकाशानंद एवं राहुल गिरी जी महाराज राहुल गिरी जी महाराज राष्ट्रीय नागा साधु परिषद के महासचिव हैं । महामंडलेश्वर स्वामी प्रमोदानंद जी , जबलपुर से साध्वी देवानंद गिरि जी, राम गोपाल जी महाराज एवं अन्य साधु के साथ दूधाधारी मठ के महंत रामसुंदर दास जी की अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे । नीलकंठ त्रिपाठी जी ने प्रदेशभर के सभी हिंदू सनातन धर्म से जुड़े लोगों को इस धर्म संसद में आने का विनम्र आमंत्रण पत्र दिया है । उन्होंने कहा है कि सनातन धर्म से जुड़े सब लोग आए और अपने विचार रखें और साधु संतों की मुखर वाणी से ज्ञान प्राप्त करें ।

No comments