Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

स्कूल में दारू-मुर्गा की पार्टी करने वाले हेडमास्टर-टीचर सस्पेंड

गरियाबंद। गरियाबंद में स्कूल में रोज शराब और मुर्गा पार्टी करने वाले प्रधान पाठक और टीचर को सस्पेंड कर दिया गया है। शराब पार्टी के बाद बच्चे...


गरियाबंद। गरियाबंद में स्कूल में रोज शराब और मुर्गा पार्टी करने वाले प्रधान पाठक और टीचर को सस्पेंड कर दिया गया है। शराब पार्टी के बाद बच्चे पढ़ाई की बात करते तो उन्हें पीटा जाता था। ग्रामीणों को पता चला तो उन्होंने एक दिन पहले ही दोनों मास्टरों को नशे की हालत में पकड़ा था। इस दौरान एक मास्टर तो इतना ज्यादा नशे में था कि जमीन पर गिर पड़ा था। वहीं इसी ब्लॉक के एक अन्य स्कूल में छात्राओं से छेड़छाड़ और गाली-गलौज करने वाले मास्टर को भी निलंबित कर दिया गया है। संभागीय संयुक्त संचालक जेपी रथ की ओर से जारी किए आदेश में कहा गया है कि गरियाबंद जिले के शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला ढोर्रा मैनपुर में पदस्थ शिक्षक शशि शेखर पांडे और शिक्षक खिरसिंह नेताम अपने उत्तरदायित्वों में अनुशासनहीनता करते हुए शराब के नशे में विद्यालय में उपस्थित होकर शासकीय कार्य में व्यवधान करते पाए गए। नशे में धुत थे और बच्चों को प्रश्न तक नहीं लिखा पा रहे थे। उनका कृत्य अशोभनीय होने के साथ ही पद के कर्तव्यों के प्रति कदाचार है। प्रधान पाठक शशि शेखर पांडेय और शिक्षक खिरसिंह नेताम स्कूल में शराब और मुर्गा पार्टी करते थे। बच्चों ने इसकी जानकारी परिजन को दी। इसके बाद सरपंच प्रतिनिधि शोप सिंह, संकुल समन्वयक जगजीवन ठाकुर और ग्रामीण गुरुवार को स्कूल पहुंच गए। दोनों को शराब और मुर्गा पार्टी करते पकड़ा गया। शिक्षक खिरसिंह नेताम तो इतने ज्यादा नशे में थे कि अपने पैरों पर ही नहीं खड़े हो पा रहे थे। मैदान में खड़ी अपनी बाइक उठाने पहुंचे, लेकिन नशे की हालत में लहराते हुए वहीं जमीन पर जा गिरे।
छात्राओं ने लगाया था टीचर पर छेड़छाड़ का आरोप
वहीं मैनपुर ब्लाक के ही एक अन्य कोदोभाठा माध्यमिक स्कूल की छात्राओं ने टीचर पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। पूर्व माध्यमिक स्कूल की छात्राओं का आरोप था कि टीचर प्रकाश कुमार भोई छेड़छाड़ और गाली-गलौज करते हैं। इस मामले में छात्राओं ने अपने परिजनों को जानकारी दी। जिसके बाद 27 अगस्त को परिजनों ने स्कूल पहुंचकर प्रधान पाठक को बताया और आरोपी शिक्षक पर कार्रवाई की मांग की। इसके बाद प्रधान पाठक ने लिखित रूप से इसकी जानकारी क्चश्वह्र को दी थी।

No comments