Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

इंदौर : नोटा मुद्दे को लेकर बोले विजयवर्गीय, ये विकल्प हित में नहीं

  इंदौर । मध्यप्रदेश के इंदौर संसदीय क्षेत्र में इन दिनों गर्माए 'नोटा' से जुड़े मुद्दे को लेकर राज्य सरकार के मंत्री कैलाश विजयव...

 

इंदौर । मध्यप्रदेश के इंदौर संसदीय क्षेत्र में इन दिनों गर्माए 'नोटा' से जुड़े मुद्दे को लेकर राज्य सरकार के मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि उपलब्ध प्रत्याशियों में से सर्वाधिक योग्य को मत देना ही समझदारी है और नोटा का विकल्प हमारे हित में नहीं है। श्री विजयवर्गीय ने कल देर रात अपने एक्स हैंडल पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत का एक वीडियो पोस्ट किया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'परम आदरणीय सरसंघचालक श्री मोहन भागवत जी ने नोटा को बहुत अच्छी तरह से समझाया है। लोकतंत्र में उपलब्ध प्रत्याशियों में से जो सर्वाधिक योग्य लगे, उसे अपना मत देने में ही समझदारी है। नोटा का विकल्प हमारे हित में नही है।' इंदौर संसदीय क्षेत्र में आगामी 13 मई को मतदान के पहले इन दिनों यहां नोटा का मुद्दा जोर पकड़ रहा है। इंदौर में कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय कांति बम ने नामांकन वापसी के अंतिम दिन अपना नामांकन वापस लेकर कांग्रेस छोड़ दी और भाजपा में शामिल हो गए। इसके बाद अब वहां कांग्रेस का कोई आधिकारिक प्रत्याशी चुनावी मैदान में नहीं है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी समेत कांग्रेस के नेता अब इंदौर संसदीय क्षेत्र के लोगों से नोटा पर वोट देने की अपील कर रहे हैं। इसी बीच पूर्व लोकसभा अध्यक्ष और इंदौर की पूर्व सांसद सुमित्रा महाजन ने भी बयान दिया कि अक्षय कांति बम से जुड़े घटनाक्रम की आवश्यकता नहीं थी। इंदौर के लोगों का रुझान भाजपा की ओर है और पार्टी इंदौर से जीत रही थी। इसके साथ ही उन्होंने यहां तक कहा था कि लोग उन्हें फोन करके कह रहे हैं कि अब वे नोटा के समर्थन में मतदान करेंगे। उनके इस बयान के बाद वहां नोटा को लेकर राजनीति और तेज हो गई। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने भी कल इस विवाद को लेकर कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने नोटा को वोट देने की अपील करके यह स्वीकार कर लिया है कि मध्यप्रदेश सहित देशभर की जनता का भरोसा कांग्रेस पार्टी से पूरी तरह से उठ चुका है।

No comments