Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

श्रेयांश मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल शुगर मरीजों के लिए वरदान से कम नहीं : पीली बाई नायक

रायपुर। श्रेयांश मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल शुगर मरीजों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है ये कहना है चगोराभंठा रायपुरा रायपुर  छत्तीसगढ़ निवासी प...


रायपुर। श्रेयांश मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल शुगर मरीजों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है ये कहना है चगोराभंठा रायपुरा रायपुर  छत्तीसगढ़ निवासी पीली बाई नायक का जो अब स्वस्थ हो कर अपने घर आ गई।पीली बाई नायक कई दिन से शरीर मे सूजन और पैर में सुन्नता से ग्रस्त थी और उनको सांस लेने में भी तकलीफ हो रही थी I उनको 5 साल पहले पता चला था की उनको डायबिटीज है, उन्होने कई हॉस्पिटल मे ईलाज करवाया किंतु कोई आराम मिलता नही दिख रहा था I एक हफ्ते से उन्हें ज्यादा तकलीफ में उनके घर वाले उनको तुरंत पास के हॉस्पिटल में लेकर गए जहाँ उनको श्रेयांश मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल जाने की सलाह दी गयी थी I

श्रेयांश मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल रायपुर में श्रीमती पीली बाई नायक को इमरजेंसी विभाग में लाया गया जहाँ प्रारंभिक जांच से यह पता चला की उनकी दिल की धड़कन और सांस बहुत कमज़ोर हैं I अस्पताल के डॉक्टरों ने उनको तुरंत एडवांस्ड जांच के लिए उनके सैंपल भेजे गए I

जांच से यह स्पष्ट हो गया कि उनकी सारी समस्याएं डायबिटीज की बीमारी से जुडी हैं और उनको डायबिटिक मरीज़ की नाज़ुक स्थिति के कारण दवाइयों से ही इलाज करने का निर्णय लिया गया I

डॉ श्री प्रकाश सिंह अनुसार, ” डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जो पूरे शरीर को प्रभावित करती है I भारत दुनिया का डायबिटीज कैपिटल कहलाया जाता है I यदि डायबिटीज का सही जीवनशैली, दवाइयों और आहार से रोकथाम न किया जाए तो एडवांस्ड रूप में किडनी फेलियर, हार्ट अटैक, लिवर और आँखों की रौशनी पर असर डाल सकता है I पीली बाई नायक जी के केस में कुछ ऐसा ही हुआ I मधुमेह के जटिलताओं के कारण उनके उनका ज़ख्म ठीक नही हो रहा था थी और उनकी उनके शरीर में सूजन हो रही थी I  जो यदि सही समय पर न उपचार करने पर जानलेवा भी हो सकती है I

इसके लक्षण हैं बढ़ा हुआ ब्लड शुगर लेवल, मुँह का सूखना, ज़्यादा प्यास लगना एवं अधिक मात्रा में पेशाब आना I

यदि आपमें निम्न लक्षण हैं तो आपको तुरंत ही डॉक्टर से परामर्श लेने चाहिएः

   * 2 हफ्ते से ज़्यादा उलटी जैसा महसूस होना I

   * पेट में दर्द होना I

   * सांस में फल की गंध आना I

   * ज़्यादा थकान महसूस होना I

   * सांस लेने में तकलीफ होना I”

पीली बाई नायक का इलाज इस तरह किया गया की उनका ब्लड शुगर लेवल पहले कण्ट्रोल में लाया गयाI हॉस्पिटल में 4 दिन के बाद उनकी सेहत में सुधार आया और डिस्चार्ज के लिए तैयार हो गई I

पीली बाई नायक के पति नरसिंह नायक के अनुसार, ” हम श्रेयांश मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल और उनके डॉक्टरों की टीम के आभारी हैं की उन्होने सही उपचार प्रदान करके मेरी पत्नी को बचा लिया I उन्होने हमे इलाज के साथ जीवनशैली और डायबिटीज नियंत्रण के लिए दिशा निर्देश भी दिया I श्रेयांश मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल रायपुर का सर्वोत्तम अस्पताल हैं जहाँ उचित, सुलभ उपचार मिलता  है और ज़रूरत में लोगों की मदद की जाती है I यहाँ सही इलाज कम खर्च में मिल जाता है।

No comments