Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

नकल सामग्री तैयार करते पकड़े गए अतिथि शिक्षक

     जगदलपुर। समाज में शिक्षक को सम्मानीय माना गया है। शिक्षकीय पेशे को आदर की दृष्टि से देखा जाता है। शिक्षक ज्ञान बांटते हैं और देश का भ...

  

  जगदलपुर। समाज में शिक्षक को सम्मानीय माना गया है। शिक्षकीय पेशे को आदर की दृष्टि से देखा जाता है। शिक्षक ज्ञान बांटते हैं और देश का भविष्य गढ़ने में इनकी बड़ी भूमिका होती है। विद्यार्थियों को शिक्षा देने के साथ ही संस्कारवान बनाने की जिम्मेदारी भी ये निभाते हैं। शिक्षकीय पेशे से जुड़े लाेगों के बारे में कभी कभार ऐसी घटनाएं देखने सुनने को मिलती है, जिसकी जितनी निंदा की जाए कम है। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की 12 वीं बोर्ड की परीक्षा शुक्रवार को शुरू हुई। पहले दिन हिंदी का पेपर था। जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर दूर परीक्षा केंद्र शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में कार्यरत दो अतिथि शिक्षकों पर नकल सामग्री तैयार करने का आरोप सामने आने पर विभाग के अधिकारी सन्न रह गए। ज्योति साहू और नीरज मिश्रा का नाम आरोपित अतिथि शिक्षक के रूप में सामने आया है। इन पर आरोप है कि इनके द्वारा परीक्षा केंद्र के समीप स्थित एक घर में बैठकर नकल सामग्री तैयार की जा रही थी। नकल सामग्री तैयार करने की सूचना पाकर मौके पर कुछ लोग जब वहां स्टिंग आपरेशन के लिए पहुंचे तो दोनों शिक्षक वहां मौके पर अपना मोबाइल, बैग छोड़कर निकल भागे। मौके से एक प्रश्नपत्र भी जब्‍त करने की बात सामने आई है। पुलिस ने सारी सामग्री जब्‍त कर ली है। घटना की जानकारी सामने आने पर केंद्रों के निरीक्षण के लिए बस्तर विकासखंड के प्रवास पर निकली जिला शिक्षा अधिकारी भारती प्रधान तुरंत साड़गुड़ पहुंची।  पूरे मामले की जानकारी लेकर और इंटरनेट मीडिया में नकल सामग्री तैयार करने के वीडियो का अवलोकन करने के बाद जांच शुरू की गई। देर शाम समाचार लिखे जाने तक जांच जारी थी। जिला शिक्षा अधिकारी से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि जांच चल रही है। जांच पूरी होने के बाद रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को दी जाएगी। प्रत्यक्षदर्शियों ने भी दोनाें अतिथि शिक्षकों का नाम बताया है। जांच में यह बात सामने आई है कि दोनों अतिथि शिक्षकों की परीक्षा में ड्यूटी नहीं थी। आरोपित अतिथि शिक्षकों ने अपने बयान में क्या कहा है इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। विद्यलय से जुड़े एक शिक्षक ने नाम नहीं छापने की शर्त पर कहा कि जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद सारे तथ्य आएंगे। अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी है। संयुक्त संचालक शिक्षा बस्तर संभाग संजीव श्रीवास्तव से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि साड़गुड़ में सामने आए मामले की जांच कराई जा रही है। रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी। घटना के कुछ समय पहले एसडीएम भरत कौशिक के नेतृत्व में उड़नदस्ता दल ने परीक्षा केंद्र का निरीक्षण किया था। परीक्षा में कोई गड़बड़ी नहीं पाई गई। उड़नदस्ता दल के जाने के बाद मामला प्रकाश में आया। वहीं नकल सामग्री परीक्षार्थियाें तक पहुंचाने में सफल होते कि इसके पहले की पूरे मामले का भंडाफोड़ हो गया। परीक्षा में नकल रोकने पहले ही दिन से सभी जिलों में प्रशासन और शिक्षा विभाग के अधिकारी सक्रिय हो गए हैं। संयुक्त संचालक संजीव श्रीवास्तव ने पहले दिन बस्तर, मारकेल, आसना, माड़पाल, नगरनार, बोरपदर, घाटलोंहगा, परचनपाल और जिला शिक्षा अधिकारी भारती प्रधान ने भानपुरी, फरसागुड़ा, बालेंगा, बस्तर आदि एक दर्जन परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया। 12 वीं बोर्ड की परीक्षा में पहला प्रश्नपत्र हिंदी विषय का था। विद्यार्थियों ने प्रश्नपत्र को सामान्य बताया। सरल प्रश्नपत्र आने से विद्यार्थी काफी खुश नजर आए। बस्तर स्थित परीक्षा केंद्र से परीक्षा देकर बाहर निकले विद्यार्थियों से चर्चा करने पर बताया गया कि प्रश्नपत्र आसान था। 12 वीं बोर्ड की परीक्षा 23 मार्च तक चलेगी। शनिवार को 10 वीं बोर्ड की परीक्षा प्रारंभ हो रही है। बस्तर संभाग के सात जिलों कांकेर, कोंडागांव, बस्तर, बीजापुर, दंतेवाड़ा, सुकमा, बीजापुर में कुल 380 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इस साल 12 वीं बोर्ड की परीक्षा के लिए 27993 और 10 वीं बोर्ड की परीक्षा के लिए 36442 विद्यार्थी पंजीकृत हैं।

No comments