Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

पीएससी के प्रश्नों में गड़बड़ी, भाजपा नेताओं के परिजनों के चयन की भी जांच करायेगी भाजपा सरकार?

रायपुर।   राज्य लोकसेवा आयोग की 2023 के प्रीलिम्स के प्रश्नपत्रों में 5 सवालों में हुई गड़बड़ियों की भी भाजपा सरकार जांच करायेगी क्या? प्रदेश ...


रायपुर। राज्य लोकसेवा आयोग की 2023 के प्रीलिम्स के प्रश्नपत्रों में 5 सवालों में हुई गड़बड़ियों की भी भाजपा सरकार जांच करायेगी क्या? प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि पीएससी ने सवालों के लिये जो मॉडल उत्तर जारी किया है उसमें 5 सवालों के जवाब सही नहीं है, सरकार इन सवालों के जवाबों की गड़बड़ियों की जांच कराये। इतनी बड़ी संख्या में प्रश्नों के उत्तर में गलती बड़े षड़यंत्रों की ओर ईशारा करता है। गलत उत्तरों को सही बता कर नतीजों को प्रभावित तो नहीं किया जा रहा, इसकी जांच की जानी चाहिये। साथ ही जिन मॉडल उत्तर पर सवाल उठ रहे है, उस पर आयोग को विचार कर छात्रों की समस्या का समाधान करना चाहिए। प्रश्न विगत वर्षों की अपेक्षा उतने त्रुटिपूर्ण नहीं थे परंतु उत्तरों की विसंगतियों को दूर करना उचित होगा क्योंकि प्रतियोगी परीक्षाओं में छात्रों के लिये दशमलव के अंक भी उनके भविष्य का निर्धारण करते है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा ने अपनी राजनीति करने के लिये पीएससी के चयन पर अनर्गल आरोप लगाया था। भाजपा के आरोप थे कि नेताओं, अधिकारियों के बच्चों का चयन पीएससी में कैसे हो गया जबकि राज्य की पीएससी में सिविल जज की परीक्षा में भाजपा नेताओं के रिश्तेदारों का भी चयन हुआ है। भाजपा बताएं सीजीपीएससी के सिविल जज की परीक्षा में मंत्री केदार कश्यप की भतीजी एवं पूर्व विधायक भाजपा नेत्री लक्ष्मी बघेल एवं अधिकारियों  के बच्चों का चयन होना भी घोटाला है? भाजपा को सीजीपीएससी के परीक्षा में नेताओं एवं अधिकारियों के बच्चों के चयन होने पर आपत्ति था। विपक्ष में रहते भाजपा ने सीजीपीएससी की पारदर्शिता पर सवाल उठाए थे और युवाओं को भड़काने के लिए झूठे आरोप लगाकर आंदोलन किया था आज वहीं भाजपा अपने नेताओं के भतीजी पुत्र, पुत्री के चयन पर मौन क्यों है? भाजपा का यह दोगला चरित्र प्रदेश के युवा देख लिए हैं। अब भाजपा प्रदेश के युवाओं को भाजपा नेताओं के बच्चों के चयन पर जवाब देना चाहिए? भाजपा नेताओं में नैतिकता नाम की चीज है, तो वो सीजीपीएससी के परीक्षा में पूर्व में चयनित उम्मीदवारों से एवं प्रदेश के युवाओं से माफी मांगे या सीजीपीएससी के, जज के परिणाम को भी सीबीआई को सौंप कर जांच करने की हिम्मत दिखाए।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा का काम निम्न स्तरीय राजनीति करना है कांग्रेस सीजीपीएससी में चयनित बच्चों के योग्यता पर कोई शंका जाहिर नहीं कर रही है। ना ही हम चयनित उम्मीदवारों के हौसला को तोड़ रहे बल्कि प्रदेश के युवाओं को जिन्हें भाजपा ने भड़काया था उन युवाओं के आगे भाजपा नेताओं के उस नफरत वाली राजनीति का पर्दाफाश कर रहे है प्रदेश के युवाओं को आइना दिख रहे है की प्रतियोगी परीक्षा में नेता एवं अधिकारियों के पुत्र, पुत्री का चयन होना उनकी योग्यता का आधार होता है। सीजीपीएससी के लिए बच्चे लगातार प्रयास करते हैं, तैयारी करते हैं और उनके योग्यता पर सवाल उठाना कहीं ना कहीं प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में लगे युवाओं का मनोबल तोड़ना है और यह निम्न स्तरीय काम सिर्फ बीजेपी करती है।

No comments