Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

महिला बाल विकास विभाग का अमानवीय चेहरा भीषण गर्मी में टीन शेड के नीचे महिलाओं का प्रशिक्षण कार्यक्रम

  शासन द्वारा जारी मास्क की अनिवार्यता आदेश को भी ठेंगा   महिला बाल विकास विभाग के अफसरों की गंभीर लापरवाही  जानकारी लेने पहुंचे मीडिया कर्म...

 

शासन द्वारा जारी मास्क की अनिवार्यता आदेश को भी ठेंगा

 महिला बाल विकास विभाग के अफसरों की गंभीर लापरवाही

 जानकारी लेने पहुंचे मीडिया कर्मियों के साथ की गई अभद्रता



अबेर न्यूज़ पिथौरा । भीषण गर्मी में व्यापक तरह की असुविधा  के  बीच पिथौरा मंडी परिसर में चल रहा है महिला एवं बाल विकास विभाग के एक कार्यक्रम की जानकारी लेने के दौरान अफसरों द्वारा पत्रकारों के साथ अभद्रता करने का मामला सामने आया है। हम आपको बता दें कि पिथौरा मंडी परिसर में महिला एवं बाल विकास विभाग में कार्यरत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का प्रशिक्षण कार्यक्रम चल रहा है जिसकी जानकारी लेने जब पत्रकारों की टीम वहां पहुंची है तब वहां प्रशिक्षण मैं पहुंचे अधिकारी ने किसी भी तरह की जानकारी देने से मना कर दिया और पत्रकारों के साथ दुर्व्यवहार करते हुए वहां से चले जाने की बात कही। गौरतलब है कि महिला बाल विकास विभाग द्वारा भीषण गर्मी में किस तरह का प्रशिक्षण आयोजित किया गया है प्रशिक्षण के दौरान सुविधाएं क्यों नहीं मुहैया कराई गई । टीन सीट के नीचे आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं सहित गर्भवती महिलाओं को क्यों बैठाया गया है ऐसे कई सारे सवाल खड़े हो गए जिसकी जानकारी लेने के लिए ही पत्रकारों की टीम वहां पहुंची हुई थी लेकिन अधिकारी जानकारी देने की बजाय पत्रकारों से ही उलझने लगे। गौरतलब है कि हाल ही में जिला कलेक्टर महासमुंद द्वारा सार्वजनिक जगहों पर तथा सरकारी कार्यालयों में मास्क को अनिवार्य कर दिया गया है इसके बाद भी महिला बालविकास के अधिकारी कलेक्टर के आदेश को ठेंगा दिखाते हुए सैकड़ों की संख्या में महिला कर्मचारियों के पहुंचने के बाद भी वहां न तो मास्क के बारे में जानकारी दी गई और ना ही किसी को मास्क पहने हुए देखा गया, जो महिला बाल विकास विभाग के अफसरों की गंभीर लापरवाही को इंगित करता है। जितना कि नहीं मंडी परिसर में ना तो महिलाओं के लिए पेयजल की व्यवस्था की गई है और ना ही अन्य सुविधाएं दी गई हैं ऐसे हालातों में महिला कर्मचारियों को समस्या झेलने प्रशिक्षण के लिए बुलाया जाना प्रतीत हो रहा है। अब मामले को उजागर होने के बाद देखने वाली बात होगी कि महासमुंद जिला कलेक्टर किस तरह से ऐसे लापरवाही पर एक्शन लेते हैं।


वह इस मामले को लेकर छग जर्नलिस्ट वेलफेयर यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष अमित गौतम ,जिलाध्यक्ष बलराज नायडू ने कहा कि हमारे पत्रकार साथियों के साथ दुर्व्यवहार किया गया है जो सरासर गलत है इस मामले को मुख्यमंत्री,मंत्री महिला बाल विकास,कलेक्टर महासमुंद सहित संबंधित अधिकारियों को संज्ञान में लेकर कार्रवाई करने की बात कही है ।

No comments