Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

स्कूलों में लटक रहे ताले, तो कई स्कूल चपरासी के हवाले: राजेश मूणत

स्कूलों में शिक्षकों के नहीं होने से छात्रों की पढ़ाई ठप रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजेश मूणत ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा...


स्कूलों में शिक्षकों के नहीं होने से छात्रों की पढ़ाई ठप

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजेश मूणत ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। शिक्षकों का लगातार हो रहे तबादला की वजह से कई स्कूल शिक्षक विहीन हो गए है तो कई स्कूलों में ताले लटक रहे है यहां तक प्रदेश के कई स्कूल तो चपरासी के भरोसे चल रही है। प्रदेश की कांग्रेस सरकार लगभग 15000 शिक्षकों की भर्ती करने का दावा करती है तो वे शिक्षक कहां गए है। प्रदेश भर के स्कूलों में शिक्षकों की कमी की वजह से छात्रों का पढ़ाई पूरी तरह से ठप हो गई है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की वजह से पिछले 2 साल से स्कूल बंद पड़े थे लेकिन अब जब स्कूलों को खोल दिया गया है तो स्कूलों में शिक्षक ही नहीं आ रहे हैं। जिसके कारण स्कूली छात्र सड़क पर उतर कर चक्का जाम तक करने को विवश हो गए हैं। 

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता राजेश मूणत ने कहा कि प्रदेश में जब भाजपा की सरकार थी तो हालत कुछ और थे लेकिन प्रदेश में जब से कांग्रेस सत्ता में आई है तब से लगातार प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से ठप सी हो गई है। स्कूलों में शिक्षक कोरोना का बहाना बनाकर नहीं आ रहे हैं, प्रदेश के मुख्यमंत्री चुनावी सैर सपाटे में एवं अपने राजनैतिक आकाओं को खुश करने में लगे हुए हैं। प्रदेश के शिक्षा मंत्री स्कूलों को खोलने कर फरमान तो जारी कर दिया लेकिन स्कूलों की शिक्षकों की उपस्थिति को लेकर अभी तक कोई आदेश जारी नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की घोर लापरवाही की वजह से आज स्कूली बच्चों का भविष्य अधर में फंसा हुआ है इसी वजह से स्कूली बच्चें सड़क पर उतर कर अब चक्का जाम तक करने को विवश हो गए है। 

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता राजेश मूणत ने कहा कि प्रदेश सरकार को तत्काल इस पर संज्ञान लेकर स्कूलों में शिक्षकों को उपस्थिति को लेकर आदेश जारी करना चाहिए तथा जिम्मेदारों के ऊपर कार्यवाही करनी चाहिए एवं जिन स्कूलों में शिक्षकों की कमी है वहां पर तत्काल नए शिक्षकों की नियुक्त करनी चाहिए ताकि बच्चों को बेहतर शिक्षा मिल सके।

No comments