Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

मरम्मत कार्य के लिए 7 लाख जारी पर 7 रुपए का काम नहीं

  भानुप्रतापपुर। विकासखंड के अंतर्गत स्थित कुल 17 स्कूल भवनों की स्थिति काफी जर्जर है। बारिश के मौसम में यहां पढऩे वाले बच्चों को भारी परेशा...

 


भानुप्रतापपुर। विकासखंड के अंतर्गत स्थित कुल 17 स्कूल भवनों की स्थिति काफी जर्जर है। बारिश के मौसम में यहां पढऩे वाले बच्चों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस समस्या को देखते हुए शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं में अति आवश्यक मरम्मत कार्य के लिए जिला शिक्षा अधिकारी कांकेर के माध्यम से ग्राम पंचायतों में 7 लाख 4 हजार 185 रुपए जारी किए गए हैं, लेकिन राशि दिए जाने के चार माह बाद भी सरपंच, सचिव के द्वारा अब तक मरम्मत कार्य नहीं कराया गया है। वहीं इस बारे में जनपद कार्यालय, स्कूलों तथा खण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में कोई जानकारी नहीं मिली है। विदित हो कि भानुप्रतापपुर ब्लाक के कई शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूल भवन काफी पुराना व जर्जर स्थिति में है। स्कूल प्रबंधन के मांग के अनुसार जिला शिक्षा अधिकारी के द्वारा पंचायतों के माध्यम से मरम्मत कार्य हेतु राशि जारी की गई थी। वर्ष 2021-2022 में स्कूलों की छत, खिड़की व दरवाजा मरम्मत के नाम से शासकीय प्राथमिक शाला चौगेल स्वीकृति 40 हजार, शासकीय प्राथमिक शाला मुल्ला 40 हजार, शासकीय प्राथमिक शाला केवटी 40 हजार, शासकीय प्राथमिक शाला खड़का 40 हजार, शासकीय प्राथमिक शाला कुआ पानी 40 हजार, शासकीय प्राथमिक शाला अलवर कला 40 हजार, शासकीय प्राथमिक शाला चिचमर्रा 40 हजार, शासकीय प्राथमिक शाला बोगर 40 हजार, शासकीय माध्यमिक स्कूल सेलगांव 80 हजार थी जिसमें 40 हजार जमा हो चुका है, शासकीय माध्यमिक स्कूल शाहकट्टा 80 हजार जिसमें 40 हजार जमा हो चुका है, शासकीय माध्यमिक स्कूल मुल्ला 41 हजार 395 राशि जारी, शासकीय माध्यमिक स्कूल कनेचुर 41 हजार 395 राशि जारी।शासकीय माध्यमिक स्कूल भैसाकन्हार डू, 41 हजार 395 राशि जारी, शासकीय माध्यमिक स्कूल हरनपुरी 40 हजार, शासकीय माध्यमिक स्कूल चिचगांव 40 हजार, शासकीय माध्यमिक स्कूल आसुलखार 50 हजार, शासकीय माध्यमिक स्कूल कुर्री 50 हजार रुपये जारी किए जा चुके हंै। यह राशि पंचायत को चेक के माध्यम 8 अक्टूबर 2021 को दी जा चुकी है। पैसे आ जाने के बावजूद सरपंच व सचिव द्वारा मरम्मत कार्य में दिलचस्पी नहीं ली जा रही है।

No comments