Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

दबंगों ने डायल 112 के सामने तोड़ दिया ग्रामीण का घर, पुलिस ने नहीं की कार्रवाई

  ग्रामीण पर दंबगाईओं का कहर, परिवार सहित हुए बेघर खरसिया। 25 फरवरी को खरसिया थानाक्षेत्र के ग्राम भालूनारा निवासी बेनुराम पिता रतिराम डनसेन...

 


ग्रामीण पर दंबगाईओं का कहर, परिवार सहित हुए बेघर

खरसिया। 25 फरवरी को खरसिया थानाक्षेत्र के ग्राम भालूनारा निवासी बेनुराम पिता रतिराम डनसेना के मकान को गांव के दंबगों द्वारा 112 की पुलिस टीम के सामने तोड़ते हुए मकान में रखे 10 हजार रुपए लूट लिय। मकानस्वामी द्वारा रिपोर्ट करने के पश्चात भी खरसिया पुलिस द्वारा तीन दिन बीतने के बाद भी कार्यवाही करने में आनाकानी कर रही है। ग्रामीण का मकान टूटने से बेनुराम इधर उधर भटक रहा है किंतु उसे कहीं से भी न्याय नहीं मिल रहा है। आखिर क्या कारण है कि खरसिया पुलिस मकान तोडऩे वालों दंबगों के विरुद्ध कार्यवाही नहीं कर रही है।
विदित हो कि खरसिया विकासखण्ड के ग्राम भालूनारा में रहने वाले बेनूराम पिता स्व. रतिराम डनसेना उम्र 62 वर्ष का गुरदा रोड में पक्का मकान है जिस पर वह अपने परिवार सहित निवास करते हुए आ रहा है। विगत दिनांक 25 फरवरी 2022 को बेनुराम अपने परिवारिक सदस्य के सगाई समारोह में ग्राम गीधा गया हुआ था और बेनूराम के परिवार के सदस्य घर में ही थे कि दोपहर 3.30 बजे के लगभग ग्राम में ही लीलूराम डनसेना, खगेश्वर डनसेना, रोहित डनसेना एक राय होकर गैती एवं रांपा लेकर बेनूराम के घर पहुंचे और परिवार के सदस्यों को गाली गलौज करने लगे जिससे डरकर परिवार के सदस्य बाहर नहीं निकले। तब उक्त लोगों द्वारा बेनूराम के मकान को गैती एवं रांपा से तोडऩा फोडऩा चालू कर दिया। तब बेनूराम के परिवारजनों ने इसकी सूचना 112 को दी और कुछ देर बाद 112 की टीम घटना स्थल पहुंची किंतु उनके द्वारा समझाइस देने के बाद भी आरोपीगण अपने कार्यों में लगे रहे और तोड फोड करते रहे। यहां 112 की टीम के सामने आरोपियों ने पूरे घर तोड़ डाला, किंतु 112 की टीम बेबस मूकदशक बनी रही। पुलिस की इस हालत को देखते हुए बेनूराम के परिवार के सदस्य अपनी जान बचाने अपने मकान में रखे सामानों को छोड़कर भाग गए, जिसका फायदा उठाते हुए उक्त तीनों ग्रामीणों ने बेनूराम के मकान को पूरी तरह तोड़ते हुए घर के समान को इधर उखर बिखेर दिया। वहीं बक्सा में रखा 10 हजार रुपए को भी लूट कर ले गये। जब बेनूराम वैवाहिक कार्यक्रम से अपने घर वापस आया तो अपने घर की हालत देखकर पुलिस थाना खरसिया पहुंच कर आरोपियों के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई। किंतु आज तीन दिन बीतने के बाद भी खरसिया पुलिस द्वारा आरोपियों के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं की गई है जिस कारण से दंबगाईयों का मनोबल बढ़ा हुआ है। वहीं पीडि़त पक्षकार का मकान टूट जाने से इस ठंड के मौसम इधर उधर भटकने को मजबूर हो रहा है। आखिर खरसिया पुलिस आरोपियों के विरूद्ध कार्यवाही करने में क्यों कतरा रही है यह आम जनमानस के समझ से परे है।
इनका कहना है
इस संबंध में जब खरसिया पुलिस थाना प्रभारी निरीक्षक सुमित राम साहू से जानकारी ली गई तो उनके द्वारा बताया गया कि दोनो पक्षों को बुलाकर मामले की जांच कराई जायेगी।
- सुमित राम साहू, थाना प्रभारी खरसिया

No comments