Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

कोरोना को खुला निमंत्रण: न चेहरे पर मास्क न सोशल डिस्टेंसिंग

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का कहर दुनिया भर में जारी है। एक साल होने को पर अब तक कोरोना से राहत मिलते नहीं दिख रही है। रोज हजारों मरीज मिल रहे ...


नई दिल्ली। कोरोना वायरस का कहर दुनिया भर में जारी है। एक साल होने को पर अब तक कोरोना से राहत मिलते नहीं दिख रही है। रोज हजारों मरीज मिल रहे हैं पर लोगों की लापरवाही कम होने की बजाए बढ़ती जा रही है। लोग बाजारों में न मास्क पहने रहे हैं न सोशल डिस्टेंसिंग  का पालन कर रहे हैं। कोरोना वायरस के प्रकोप ने एक बार फिर सरकार और लोगों की चिंता को बढ़ा दिया है। महाराष्ट्र में तेजी से बढ़ते मामलों के बाद दिल्ली में भी कोरोना संक्रमण के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। पिछले एक महीने के भीतर दिल्ली में सक्रिय कोविड मरीजों की संख्या दोगुने से भी ज्यादा हो गई है। बढ़ते संक्रमण के बाद भी लोग मेट्रो, रेलवे स्टेशन, बाजार, मंदिर, रेस्टोरेंट और प्रदर्शन स्थलों पर सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करना तो दूर चेहरे पर मास्क तक नहीं लगा रहे हैं। बढ़ते मरीजों को देखते हुए केंद्र सरकार ने दिल्ली और आसपास के इलाकों की भी पड़ताल की है। केंद्र सरकार के अनुसार दिल्ली समेत गुरुग्राम, फरीदाबाद, गाजियाबाद और गौतमबुद्धनगर में केस बढ़ रहे हैं। यहां के पॉजिटिविटी रेट्स में इजाफे की बढ़त देखने को मिली रही है।
-मेट्रो में यात्री भूले प्रोटोकाल, बैठ रहे हैं पास पास
मेट्रो के सफर के दौरान भी अब यात्री सामाजिक दूरी के नियम को भूल गए हैं। मेट्रो में कोराना काल के पूर्व की तरह ही भीड़ बढऩे लगी है। यात्री पहले की तरह पास पास खड़े होकर ही सफर करते नजर आ रहे हैं। सुबह और शाम के सफर के दौरान मेट्रों में पहले की तुलना में ज्यादा भीड़ नजर आने लगी है। यात्री एक सीट छोड़कर बैठने के नियम का भी पालन नहीं कर रहे है। इसके अलावा कई मेट्रो स्टेशनों पर थर्मल स्क्रीनिंग और हैंड सैनिटाइज भी ठीक से नहीं किया जा रहा है। इस मामले में डीएमआरसी ने बताया कि, लागातार यात्रियों से कोविड प्रोटोकाल पालन करने का अनुरोध कर हैं। चेहरे पर मास्क नहीं लगाने पर लोगों पर चालानी कार्रवाई भी की जा रही है।
-रेलवे स्टेशन पर नहीं हो रही थर्मल स्क्रीनिंग
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर भी आने जाने वाले यात्रियों की पहले की तरह थर्मल स्क्रीनिंग, हैंड सैनिटाइज या किसी प्रकार की जांच-पड़ताल नहीं की जा रही है। दूसरे राज्यों की ट्रेनों से दिल्ली आने वाले यात्री बेरोकटोक स्टेशन से उतरकर अपने गंतव्य पर जा रहे हैं। इसके अलावा प्लेटफॉर्म और ट्रेनों के अंदर यात्री चेहरे पर मास्क लगाना तो दूर सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का भी पालन नहीं कर रहे हैं। प्लेटफार्म और स्टेशन के इंट्री गेट पर भी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग और सैनिटाइज भी नहीं की जा रही है। इस मामले में रेलवे प्रशासन ने बताया कि चुनिंदा इंट्री गेट पर पहले की तरह ही थर्मल स्क्रीनिंग और सैनिटाइज किया जा रहा है। वहीं ट्रेन में यात्रियों को मास्क पहनने और कोविड प्रोटोकाल का पालन करने के लिए कहा भी जा रहा है।
-प्रदर्शन स्थलों पर भी बिना मास्क के लोग
जतंर मंतर प्रदर्शन स्थल पर भी कोविड प्रोटोकाल की धज्जियां उड़ रही हैं। बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी यहां आकर एकत्र हो रहे हैं और धरना दे रहे हैं। लेकिन एक भी प्रदर्शनकरी के चेहरे पर मास्क नहीं लगा है। प्रदर्शन स्थल पर भी लोग पास पास बैठे नजर आ रहे हैं। इस मामले में प्रदर्शन करने वाले सामाजिक नेताओं ने अमर उजाला से कहा, मास्क से ज्यादा हमारी मांगे जरुरी हैं। हम लोग नियम का पालन करते हुए ही प्रदर्शन कर रहे हैं। इधर, स्थानीय पुलिस प्रशासन भी प्रदर्शन में शामिल लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा हैं। मौके पर मौजूद पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने अमर उजाला को बताया कि, सैकड़ों की संख्या में लोग यहां रोज प्रदर्शन के लिए आते हैं। हमारा काम कानून व्यवस्था संभालना है ना की लोगों के चेहरे पर मास्क है या नहीं देखना।

No comments